Jan 9, 2023

मोहब्बत जिंदाबाद...LGBTQ के 'महापर्व' के रंग, देखें इन PHOTOS के संग

Abhishek Gupta

LGBTQ कम्युनिटी के लिए यह बड़े पर्व जैसा

दिल्ली में रविवार (नौ जनवरी, 2023) को एलजीबीटीक्यू (LGBTQ) समुदाय के लोगों और समर्थकों ने प्राइड परेड निकाली।

Credit: टाइम्स नाउ ब्यूरो

मार्च का यह रहा था रूट

यह मार्च (दिल्ली क्वीर गर्वोत्सव) कनॉट प्लेस के पास पड़ने वाले बाराखंभा मेट्रो स्टेशन से जंतर-मंतर तक निकाला गया।

Credit: टाइम्स नाउ ब्यूरो

यूं खुलकर जाहिर की आइडेंटिटी!

दिल्ली प्राइड परेड में एलजीबीटीक्यू कम्युनिटी से ताल्लुक रखने वाले स्टूडेंट्स से लेकर वर्किंग प्रोफेश्नल्स ने हिस्सा लिया और इस दौरान उन्होंने अपने आप को खुलकर जाहिर किया।

Credit: टाइम्स नाउ ब्यूरो

परेड में छाया और लहराया रेनबो फ्लैग!

परेड में भारी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। वे इस दौरान रेनबो फ्लैग (इंद्रधनुषी झंडा) और नारे लिखे तख्ती-बैनर थामे थे।

Credit: टाइम्स नाउ ब्यूरो

नाच-गाने के साथ दीं परफॉर्मेंस

दिल्ली प्राइड परेड के दौरान एलजीबीटीक्यू समुदाय के लोगों ने नाचे-गाने से जुडी परफॉर्मेंस भी दीं।

Credit: IANS

...क्योंकि प्यार तो प्यार होता है!

ये सभी लोग इस मार्च के दौरान बेबाकी से अपनी लैंगिग पहचान जाहिर करते हुए समान विवाह अधिकार की मांग बुलंद कर रहे थे।

Credit: टाइम्स नाउ ब्यूरो

कोरोना महामारी के बाद की थी यह पहली प्राइड परेड

रोचक बात यह है कि कोरोना वायरस महामारी के बाद राष्ट्रीय राजधानी में यह पहली प्राइड परेड थी।

Credit: IANS

'मां मेरी असल पहचान जानकर हुई थीं खुश'

संकेत ने बताया- मेरे पैरेंट्स सपोर्टिव रहे। मैंने मां को पहली बार लैंगिग पहचान के बारे में बताया था। उन्होंने मुझे खुशी-खुशी स्वीकार लिया था।

Credit: IANS

लोगों ने उठाए अहम मुद्दे, कहा- यह किसी एक की लड़ाई नहीं

मार्च में पहुंचीं आरती मल्होत्रा के 16 साल के लड़के ने सेक्सुअल असॉल्ट के चलते सुसाइड कर लिया था। वह बोलीं- यह किसी एक की लड़ाई नहीं है।

Credit: टाइम्स नाउ ब्यूरो

Thanks For Reading!

Next: कैसे पैदा होते हैं जुड़वा बच्चे, भारत के इस गांव में सबसे ज्यादा Twins