उइगर- जातीय अल्पसंख्यकों पर चीन के जुल्म को लेकर अमेरिका सख्त, कांग्रेस ने प्रतिबंधों को दी मंजूरी

दुनिया
भाषा
Updated May 28, 2020 | 11:57 IST

US Congress approve sanctions on China: कोरोना को लेकर पहले से चल रही तनातनी बीच अमेरिकी कांग्रेस ने जातीय अल्पसंख्यकों पर नृशंस चीनी कार्रवाई को लेकर कड़ा रुख दिखाया है और प्रतिबंधों को मंजूरी दे दी है।

America takes steps against China
अमेरिका ने चीन पर लगाए प्रतिबंध 

मुख्य बातें

  • कोरोना को लेकर अमेरिका और चीन के बीच पहले से चल रहा है तनाव
  • अब अमेरिकी संसद में उठा उइगर सहित जातीय अल्पसंख्यकों पर नृशंस चीनी कार्रवाई का मुद्दा
  • अमेरिकी कांग्रेस ने दी चीन के खिलाफ प्रतिबंधों को मंजूरी

वाशिंगटन: अमेरिका और चीन के बीच कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने को लेकर पहले से ही चल रहे तनाव के बीच अमेरिकी संसद ने जातीय अल्पसंख्यकों पर नृशंस चीनी कार्रवाई को लेकर अपना रुख कड़ा करने के समर्थन में मतदान किया है।
सदन में बुधवार को द्विदलीय विधेयक पारित किया गया जिसके तहत पश्चिमी शिंजियांग क्षेत्र में उइगर एवं अन्य जातीय समूहों की व्यापक निगरानी और उन्हें नजरबंद रखने में शामिल चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाए जाने की बात की गई है।

ट्रंप करेंगे हस्ताक्षर: इस विधेयक को सीनेट में पहले की पारित किया जा चुका है और अब इसे कानून में बदलने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हस्ताक्षर की आवश्यकता है। ट्रम्प ने इस सप्ताह कहा था कि वह इस विधेयक पर पूरी गंभीरता से विचार करेंगे। संसद में रिपब्लिकन और डेमोक्रेट, दोनों पाटियों के सदस्यों ने विधेयक के समर्थन में मतदान करते हुए इसे एक के मुकाबले 413 मतों से पारित कर दिया।

अमेरिका और चीन के बीच कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने और हांगकांग में नागरिक अधिकारों पर प्रतिबंध लगाने की चीनी योजनाओं के खिलाफ पहले से ही तनाव चल रहा है। प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंन्सी पेलोसी ने विधेयक के समर्थन में संसद में कहा, ‘उइगर लोगों के खिलाफ बीजिंग की बर्बरतापूर्ण कार्रवाई दुनिया की अंतरात्मा तक को हिला देने वाली है।’

अगली खबर