मोदी का भाषण सुनने उस सभा में चुपके से आया दुनिया का ताकतवर शख्स ,बजाईं तालियां

दुनिया
Updated Sep 24, 2019 | 00:37 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

भारत और अमेरिका के बीच प्रगाढ़ संबंधों को इस तथ्य से समझा जा सकता है कि क्लाइमेट चेंज पर जब पीएम नरेंद्र मोदी भाषण दे रहे थे उस समय डोनाल्ड ट्रंप बिना किसी कार्यक्रम के शामिल हुए।

donald trump
जलवायु परिवर्तन की स्पीच के दौरान बिना तय कार्यक्रम डोनाल्ड ट्रंप सभा में पहुंचे 

मुख्य बातें

  • जलवायु परिवर्तन पर सम्मेलन में पीएम मोदी की स्पीच सुनने के लिए पहुंचे थे डोनाल्ड ट्रंप
  • पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब समय बात करने की जगह काम करने का है।
  • पीएम मोदी ने इंटरनेशनल सोलर अलायंस का खासतौर से जिक्र किया

न्यूयॉर्क। ह्यूस्टन में हाउडी कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने साबित कर दिया कि शब्दों के चयन में उनका कोई जगह नहीं ले सकता है। ह्यूस्टन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्ंरप ने मंच साझा किया जिसे भारत और अमेरिका के संबंध को उच्चतम स्तर पर देखा जा रहा है। सोमवार को जलवायु परिवर्तन पर पीएम नरेंद्र मोदी को अपनी बात रखनी थी। उस कार्यक्रम में ट्रंप के आने की कोई सूचना नहीं थी। लेकिन समिट में मौजूद लोग उस समय आश्चर्यचकित हो गए जब पीएम मोदी का भाषण सुनने के लिए वो सभा के बीच में बैठ गए। 

डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम नरेंद्र मोदी और जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल के भाषणों को खामोशी से सुनते रहे। इन दोनों नेताओं की भाषण की समाप्ति पर वो सभा से उठ कर चले गए। सबसे बड़ी बात है कि जब पीएम मोदी अपनी बात रख रहे उस वक्त राष्ट्रपति ट्रंप ने तालियां भी बजाई। राष्ट्रपति ट्रंप, पीएम मोदी की स्पीच को उस अंदाज में सुन रहे  थे जैसे कोई शिक्षक कक्षा में छात्रों का पढ़ाता हो। पीएम मोदी ने स्पष्ट किया कि जलवायु परिवर्तन का अमीर और गरीब से देश रिश्ता नहीं है। हमें इस समस्या से निपटने के लिए नफा और नुकसान को तिलांजलि देकर आगे बढ़ना होगा। 

क्लाइमेट समिट को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि किस तरह से भारत पर्यावरणीय चुनौती का सामना करने के लिए आवश्यक कदम उठा रहा है। उन्होंने कहा भारत की अगुवाई में इंटरनेशल सोलर अलाएंस बखूबी काम कर रहा है। यही नहीं इसके साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब समय बात करने की जगह काम करने का है। 

 

अगली खबर