रेगिस्तान के दावोस में पीएम नरेंद्र मोदी, पेट्रोलियम सेक्टर का हवाला देकर सऊदी अरब से रिश्ते को बताया अहम

दुनिया
Updated Oct 29, 2019 | 09:59 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

pm narendra modi saudi arab visist: सऊदी अरब के साथ भारत के ऐतिहासिक रिश्ते रहे हैं। इस संबंध को और पुख्ता करने के लिए पीएम नरेंद्र मोगी रेगिस्तान के दावोस रियाद में हैं।

PM Narendra Modi
सऊदी अरब के दौरे पर पीएम नरेंद्र मोदी 

मुख्य बातें

  • सऊदी अरब के दौरे पर पीएम नरेंद्र मोदी
  • दोनों देशों के बीच पेट्रोलियम सेक्टर के जरिए रिश्ते को बताया अहम
  • अरब न्यूज से साक्षात्कार में काउंटर टेररिज्म का भी किया जिक्र

नई दिल्ली। रेगिस्तान का दावोस कहे जाने वाले रियाद में पीएम नरेंद्र मोदी इस समय हैं। वो यहां पर फ्यूचर इन्वेस्टमेंट इनिशिएटिव फोरम में शिरकत करेंगे। सम्मेलन में औपचारिक भाषण से पहले उन्होंने अरब न्यूज को साक्षात्कार दिया जिसमें बताया कि दोनों देशों की बेहतरी के लिए आपसी रिश्ते क्यों अहम हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि सऊदी अरब, भारत की ऊर्जा जरूरतों को पूरी करने में अहम योगदान देता है। वो सोचते हैं कि कच्चे तेलों की स्थिर कीमतें वैश्विक अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि सऊदी अरब से करीब 18 फीसद कच्चे तेल का भारत आयात करता है और यह दूसरा सबसे बड़ा स्रोत भारत के लिए है। भारत सरकार की स्पष्ट सोच है कि सऊदी अरब के साथ मिलकर हम रणनीतिक समझौते के तहत आगे बढ़ सकते हैं।


सऊदी अरामको का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह कंपनी भारत के पश्चिमी तट पर रिफाइनरी और पेट्रोकेमिकल सेक्टर में निवेश कर रही है। हम चाहते हैं कि अरामको भारत के रणनीतिक पेट्रोलियम रिजर्व में भी सहयोग करे। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि एशिया की दो शक्तियां भारत और सऊदी अरब दोनों अपने पड़ोस से एक ही तरह की सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रही हैं। अगर सुरक्षा के मोर्चे पर देखें तो काउंटर टेररिज्म के क्षेत्र में दोनों देश बेहतर काम कर रहे हैं। 

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर