Imran Khan Rally in PoK : PoK में आज रैली करेंगे इमरान खान, 5 अगस्त के बाद उनका यह तीसरा दौरा

दुनिया
Updated Sep 13, 2019 | 11:01 IST

Imran Khan Rally in PoK Today : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान आज पीओके की राजधानी मुजफ्फराबाद में एक रैली को संबोधित करेंगे। इस रैली के बारे में इमरान ने एक ट्वीट किया है।

Pakistan PM Imran khan rally today in pakistan occupied kashmir
पीओके में पाकिस्तानी पीएम इमरान खान की रैली।  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • कश्मीरियों के साथ एकजुटता दिखान के लिए आज पीओके में रैली करेंगे इमरान खान
  • भारत सरकार के 5 अगस्त के फैसले के बाद पीओके में इमरान की यह तीसरी रैली
  • पाक ने भारत पर लगाए हैं कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप

नई दिल्ली : कश्मीर मसले को दुनिया की नजरों में बनाए रखने के लिए पाकिस्तान अपनी जी-जान से जुटा है लेकिन उसके अथक प्रयासों के बावजूद उसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन हासिल नहीं हो पाया है। इससे झुंझलाए और बौखलाए पाकिस्तान के हुक्मरान नए-नए दांव एवं चाल चल रहे हैं फिर भी उनकी कोई नहीं सुन रहा है।  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि वह 13 सितंबर को कश्मीरियों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए अपने कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की राजधानी मुजफ्फराबाद में एक रैली को संबोधित करेंगे। 

इस रैली के बारे में इमरान खान ने बुधवार को एक ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने कहा, 'इस रैली का उद्देश्य भारत के नियंत्रण वाले कश्मीर की स्थिति से दुनिया को परिचित कराना है।' पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि इस रैली के जरिए दुनिया को पता चलेगा कि भारत अपनी फौज के जरिए वहां के लोगों को बंधक बनाकर रखा है। साथ ही यह इस रैली से कश्मीरियों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करते हुए यह संदेश देना है कि पाकिस्तान उनके साथ खड़ा है।'  

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) के 42वें सत्र की बैठक जेनेवा में चल रही है। इस बैठक में पाकिस्तान ने कश्मीर में मानवाधिकार हनन का मुद्दा उठाया। पाकिस्तान ने आरोप लगाया कि भारत कश्मीर में बड़े पैमाने पर मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है। हालांकि, भारत ने उसके आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए उसके दावों एवं झूठ के पुलिंदे की पोल खोल दी। फिर भी पाकिस्तान ने यूएनएचआरसी में अपनी सफलता का दावा किया है। 

उसका दावा है कि जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों पर चिंता जताने वाले संयुक्त बयान पर वह 50 देशों का समर्थन हासिल करने में कामयाब हुआ। हालांकि, इस दावे के लिए पाकिस्तान का मजाक बन रहा है क्योंकि यूएनएचआरसी में 50 नहीं बल्कि 47 देश हैं। पाकिस्तान का यह भी दावा है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने कश्मीर पर उसके रुख का समर्थन किया है।   

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त किए जाने के पांच अगस्त के भारत सरकार के फैसले के बाद इमरान खान का पीओके में यह तीसरा दौरा होने वाला है। पांच अगस्त के बाद पाकिस्तानी हरकतों की आशंका को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर में संचार-व्यवस्था पर रोक, अतिरिक्त सैन्यबलों की तैनाती सहित अन्य प्रतिबंधात्मक उपाय किए। हालांकि, स्थितियों के सामान्य होने पर वहां प्रतिबंधों में ढील दी जा रही है। भारत सरकार ने पाकिस्तान सहित दुनिया को स्पष्ट रूप से संदेश दिया है कि भारतीय संसद ने अनुच्छेद 370 समाप्त करने का फैसला किया है और कोई भी देश उसके अंदरूनी मामलों में दखल नहीं दे सकता। वह कश्मीर मसले पर किसी तीसरी देश के हस्तक्षेप को बर्दाश्त नहीं करेगा। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...