आतंकियों का हमदर्द पाकिस्‍तान! इमरान खान ने ओसामा बिन लादेन को बताया 'शहीद'

Pakistan News: आतंकवाद के खिलाफ कड़ा रुख नहीं अपनाने को लेकर पाकिस्‍तान पर हमेशा सवाल उठते रहे हैं। इस बीच इमरान खान के एक बयान से एक बार फिर सवाल उठ रहे हैं।

आतंकियों का हमदर्द पाकिस्‍तान! इमरान खान ने ओसामा बिन लादेन को बताया 'शहीद'
आतंकियों का हमदर्द पाकिस्‍तान! इमरान खान ने ओसामा बिन लादेन को बताया 'शहीद'  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

मुख्य बातें

  • पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खन ने ओसमा बिन लादेन को शहीद बताया है
  • इमरान खान संसद में बोल रहे थे जब उन्‍होंने अलकायदा सरगना को शहीद बताया
  • 9/11 के मास्‍टरमाइंड ओसामा को अमेरिका ने पाकिस्‍तान के एबटाबाद में मारा था

नई दिल्ली : आतंकवाद को लेकर पाकिस्‍तान की पोल कई बार खुल चुकी है। आतंकियों से उसकी हमदर्दी भी जाहिर रही है और अब एक बार फिर इसका खुलासा पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के एक बयान से होता है, जिसमें उन्‍होंने अमेरिका में 11 सितंबर, 2001 को जघन्‍य आतंकी वारदात की साजिश रचने वाले अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को शहीद बता दिया है और यह उन्‍होंने पाकिस्‍तान की संसद में बोला।

इमरान खान ने ओसामा को बताया शहीद

इमरान खान पाकिस्‍तान की नेशनल एसेम्‍बली में बोल रहे थे, जब उन्‍होंने ओसामा को शहीद बता दिया। इमरान खान के उस भाषण का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें उन्‍हें कहते सुना जा रहा है, '...हम बड़े शर्मिंदा हुए...अमेरिकी हमें बिना बताए आए और ओसामा बिन लादेन को एबटाबाद में मार दिया... उन्‍हें शहीद कर दिया।' यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और लोग इस पर तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं।

अमेरिका के साथ गठजोड़ पर उठाए सवाल

अपने संबोधन के दौरान इमरान खान आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका के साथ पाकिस्‍तान के गठजोड़ को लेकर भी सवाल उठाते हैं और कहते हैं कि इसके बाद पाकिस्‍तान को आखिर क्‍या हासिल हुआ? दुनियाभर में पाकिस्‍तान को कोसा गया और देश को बड़ी शर्मिंदगी उठानी पड़ी। उन्‍होंने यह भी कहा कि आतंकवाद के खिलाफ इस जंग में लगभग 70 हजार पाकिस्‍तानी मारे गए। पाकिस्‍तान को कभी इसमें शामिल नहीं होना चाहिए था।

पाक‍िस्‍तान के एबटाबाद में मारा गया था लादेन

यहां उल्‍लेखनीय है कि अमेरिका ने पाकिस्‍तान के एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था। अमेरिका की नेवी सील्‍स टीम ने 9/11 की घटना के करीब 10 साल बाद 2 मई, 2011 को यह बड़ी कामयाबी हासिल की थी। लादेन पर अमेरिका में 2001 की आतंकी घटना के साथ-साथ कई अन्‍य आतंकी वारदातों को भी अंजाम देने या उसकी साजिश का आरोप था। 9/11 के आतंकी हमले में अमेरिका में 3000 लोग मारे गए थे।

अगली खबर