'किम जोंग-उन से मेरे रिश्‍ते अच्‍छे, अमेरिका को खतरा नहीं', उत्‍तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण पर बोले ट्रंप

दुनिया
Updated Jul 28, 2019 | 00:13 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

उत्‍तर कोरिया ने हाल ही में दो मिसाइलों का परीक्षण कर जहां दक्षिण कोरिया को गंभीर चेतावनी दी है, वहीं अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने इसे तवज्‍जो न देते हुए कहा है कि इससे अमेरिका को कोई खतरा नहीं है।

Kim jong un
किम जोंग उन (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: AP, File Image
मुख्य बातें
  • उत्‍तर कोरिया ने हाल ही में दो मिसाइलों का परीक्षण किया है
  • प्‍योंगयांग ने इसे दक्षिण कोरिया के लिए गंभीर चेतावनी बताया
  • मिसाइलों का परीक्षण किम जोंग-उन की निगरानी में हुआ

वाशिंगटन : उत्‍तर कोरिया ने गुरुवार को दो मिसाइलों का परीक्षण किया, जिसने उसने दक्षिण कोरिया के लिए 'गंभीर चेतावनी' बताया। मिसाइलों का परीक्षण खुद उत्‍तर कोरिया के शीर्ष नेता किम-जोंग उन की निगरानी में किया गया। दक्षिण कोरिया ने जहां इसे उकसावे वाली कार्रवाई बताया, वहीं जापान ने भी इस पर खेद जताया। अटकलें लगाई गईं कि अमेरिका के साथ एक बार फिर शुरू हुई उसकी वार्ता फिर से बेपटरी हो सकती है, लेकिन अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड टंप ने यह कहकर इसे तवज्‍जो नहीं दिया कि उत्‍तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के केंद्र में दक्षिण कोरिया था, न कि अमेरिका।

उत्‍तर कोरिया के साथ रिश्‍ते सुधारने की कोशिश में जुटे ट्रंप इस हालिया मिसाइल परीक्षण से बेफिक्र नजर आए, जब उन्‍होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा, 'उन्होंने अमेरिका को चेतावनी नहीं दी है। उनके (उत्‍तर कोरिया-दक्षिण कोरिया) अपने विवाद हैं, उन दोनों के अपने मतभेद हैं।' उनका इशारा उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच 1950-1953 तक लड़े गए युद्ध की ओर था, जिसमें अमेरिका ने दक्षिण कोरिया की ओर से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने उत्‍तर कोरिया की ओर से हालिय कम दूरी की मिसाइलों के परीक्षण को 'बेहद साधारण' बताया। यह कहे जाने पर कि उत्‍तर कोरिया द्वारा जिन मिसाइलों का परीक्षण किया गया है, वे दक्षिण कोरिया और सीमा के समीप अमेरिका के बड़े सैन्य अड्डों तक आसानी से पहुंच सकती हैं, ट्रंप ने कहा, 'किम के साथ मेरे रिश्ते बहुत अच्छे हैं। हम देखेंगे क्या होता है।'

उत्तर कोरियाई ने गुरुवार को कम दूरी की दो मिसाइलों का परीक्षण किया था। खुद किम जोंग उन ने इनकी निगरानी की थी इसे अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच नियोजित सैन्य अभ्यासों को लेकर उत्‍तर कोरिया की चेतावनी के तौर पर भी देखा गया। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी थी और कहा था कि उत्तर कोरिया ने पौ फटने के तुरंत बाद पूर्वी तट के वॉनसन से दो मिसाइलें दागीं, जिनमें से एक ने 430 किलोमीटर की दूरी तय की, जबकि दूसरी 690 किलोमीटर तक पहुंची।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर