इजरायल चुनाव: 92 प्रतिशत वोटों की गिनती पूरी, बेंजामिन नेतन्‍याहू की राह हुई मुश्किल

दुनिया
Updated Sep 18, 2019 | 16:14 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

इजरायल में पांच महीने के बाद दूसरी बार आम चुनाव हुए, जिसमें प्रधानमंत्री पद के लिए बेंजामिन नेतन्‍याहू की राह मुश्किल लग रही है। उनके प्रतिद्वंद्वी बेनी गैन्‍ट्ज ने गठबंधन सरकार बनाने की बात कही है।

Israeli Prime Minister Benjamin Netanyahu addressees his supporters at party headquarters after elections in Tel Aviv, Israel, Wednesday, Sept. 18, 2019
चुनाव के बाद बेंजामिन नेतन्‍याहू ने पार्टी मुख्‍यालय में अपने समर्थकों को संबोधित किया  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • इजरायल में 5 महीने बाद दूसरी बार आम चुनाव हुए हैं
  • अब तक 92 प्रतिशत वोटों की गिनती की जा चुकी है
  • इस चुनाव में PM नेतन्‍याहू की राह आसान नहीं लग रही है

जेरुसलम : इजरायल में पिछले पांच महीने बाद दूसरी बार आम चुनाव हुए हैं। यहां अप्रैल में आम चुनाव हुआ था, जिसके बाद बेंजामिन नेतन्‍याहू चौथी बार प्रधानमंत्री बने। हालांकि वह इस चुनाव के बाद इजरायल की 120 सदस्यीय संसद में सरकार चलाने के लिए आवश्‍यक 61 सदस्यों का गठबंधन बनाने में नाकाम रहे, जिसके बाद यहां मध्यावधि चुनाव की जरूरत पड़ी। नेतन्‍याहू लगातार 5वीं बार प्रधानमंत्री बनने की कोशिश में हैं, लेकिन इस चुनाव में उन्‍हें प्रतिद्वंद्वी बेनी गैन्ट्ज से कड़ी टक्‍कर मिलती दिख रही है।

इजरायल में मंगलवार को हुई वोटिंग के बाद करीब 92 फीसदी वोटों की गिनती की जा चुकी है, जिसमें नेतन्याहू (69) की दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी हालांकि आगे नजर आ रही है, लेकिन उन्‍हें सरकार चलाने के लिए आवश्‍यक बहुमत एक बार फिर नहीं मिलता दिख रहा है। बेनी गैन्ट्ज की मध्यमार्गी ब्लू एंड व्हाइट पार्टी से जहां नेतन्‍याहू को कड़ी टक्‍कर मिलती दिख रही है। अब तक की वोटों की गिनती में नेतन्‍याहू और गैन्‍ट्ज की पार्टी को 32-32 सीटें मिली हैं। साफ है कि दोनों में से किसी भी नेता की पार्टी को स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं मिला है। फिर भी दोनों ने सरकार गठन का दावा किया है।

अब तक के चुनाव परिणामों के अनुसार, इजरायल बीतेनु पार्टी को 9 सीटें मिली हैं और इसके नेता एविगडोर लिबरमैन किंगमेकर के तौर पर उभरे हैं। अरब इजरायली पार्टियों के गठबंधन ज्‍वाइंट लिस्‍ट को इस चुनाव में 12 सीटें मिली हैं, जबकि अल्‍टा-ऑर्थोडॉक्‍स शास को 9 सीटें मिली हैं। यूनाइटेड तोरा जुडैज्‍म को 8, यामिना को 7, लेबर-गेशेर को 6 और डेमोक्रेटिक कैंप को 5 सीटें मिली हैं। लिबरमैन (61) ने बुधवार को कहा कि तस्‍वीर बिल्‍कुल साफ है और केवल मिलीजुली सरकार ही विकल्‍प है।

गैन्‍ट्ज ने भी यहां मिलीजुली सरकार बनाने की बात कही है। उन्‍होंने कहा कि इस दिशा में बातचीत चल रही है। हालांकि नेतन्‍याहू ने गठबंधन सरकार के विचार को खारिज कर दिया है, जिसमें घटक के तौर पर ज्‍वाइंट लिस्‍ट भी शामिल होगी। उन्‍होंने साफ कहा कि सरकार उन पार्टियों पर निर्भर नहीं होगी, जो हमारे बच्‍चों व नागरिकों को मारने वाले आ‍तंक‍ियों का महिमामंडन करती हों।

वहीं गैन्‍ट्ज ने बुधवार को अपने समर्थकों से कहा कि उनकी पार्टी ने जिस विचार को लेकर कैंपेन चलाया, वह सफल रहा और पार्टी ने अपना मिशन पूरा कर लिया है। पूर्व सैन्य प्रमुख गैन्‍ट्ज इजरायल की राजनीति में पिछले कई वर्षों में नेतन्याहू के सबसे मजबूत प्रतिद्वंद्वी के तौर पर उभरे हैं।

लोकप्रिय वीडियो
अगली खबर
इजरायल चुनाव: 92 प्रतिशत वोटों की गिनती पूरी, बेंजामिन नेतन्‍याहू की राह हुई मुश्किल Description: इजरायल में पांच महीने के बाद दूसरी बार आम चुनाव हुए, जिसमें प्रधानमंत्री पद के लिए बेंजामिन नेतन्‍याहू की राह मुश्किल लग रही है। उनके प्रतिद्वंद्वी बेनी गैन्‍ट्ज ने गठबंधन सरकार बनाने की बात कही है।
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...
taboola
Recommended Articles