Coronavirus: तेजी से पांव पसार रहा है कोरोना वायरस, ब्रिटिश शख्‍स ने चीन गए बगैर 11 लोगों को कर दिया संक्रमित

कोरोना वायरस किस कदर तेजी के साथ फैल रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक ब्रिटिश शख्‍स ने तीन देशों के 11 लोगों को संक्रमित कर दिया, जबकि वह चीन कभी नहीं गया था।

 British man passed coronavirus to 11 people without ever setting foot in china
कोरोना वायरस तेजी से दुनियाभर में फैलता जा रहा है  |  तस्वीर साभार: AP

पेरिस : चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस दुनियाभर में पांव पसार रहा है। इस संक्रामक बीमारी से चीन में जहां 1,011 लोगों की जान चली गई, वहीं 42,200 से अधिक संक्रमित हैं। यह जानलेवा वायरस तेजी से दुनिया के अन्‍य देशों में भी फैलता जा रहा है। चीन में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दुनियाभर में लोग जहां इस देश की यात्रा करने से बच रहे हैं, वहीं एक ऐसा भी मामला सामने आया है, जिसमें एक शख्‍स को चीन गए बगैर यह संक्रमण हो गया और उसने तीन देशों के 11 अन्‍य लोगों को भी इस जानलेवा वायरस से संक्रम‍ित कर दिया।

यह संक्रमण ब्रिटिश नागरिक से फैला, जिसका नाम फिलहाल सामने नहीं आया है। बताया जा रहा है कि यह ब्रिटिश शख्‍स सिंगापुर में एक सेमिनार में हिस्‍सा लेने गया था, जहां से उसे इस वायरस का संक्रमण हुआ था। हालांकि शुरुआत में उसे इसका पता नहीं चला और वह फ्रांस में घूमने चला गया, जहां उसने कई अन्‍य लोगों को भी संक्रमित किया। उसके संपर्क में आने से जो 11 लोग संक्रमित हुए हैं, उनमें 5 को फ्रांस के अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है, ज‍बकि 5 अन्‍य को ब्रिटेन और 1 को स्‍पेन के द्वीप मल्‍लोर्का में भर्ती कराया गया है।

इस जानलेवा वायरस से 11 लोगों को संक्रमित करने वाले शख्‍स में इसकी पुष्टि ब्रिटेन लौटने के बाद हुई। उसने सिंगापुर में 20-22 जनवरी को एक बिजनेस कॉन्‍फ्रेंस में हिस्‍सा लिया था। इसमें 100 से  अधिक लोगों ने हिस्‍सा लिया था, जिनमें से एक चीन के हुबेई प्रांत से पहुंचा एक शख्‍स भी था, जहां इस जानलेवा वायरस के कारण 900 से अधिक लोगों की जान चली गई है। इस सेमिनार में हिस्‍सा लेने के बाद 24-28 जनवरी के बीच ब्रिटिश शख्‍स फ्रांस गया था, जहां वह कई अन्‍य नागरिकों के संपर्क में आया और उससे 11 लोग संक्रमित हो गए।

दक्षिणी इंगलैंड लौटने पर जब उसे बुखार हुआ तो उसकी जांच की गई, जिसमें उसे कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया। 6 फरवरी को उसे लंदन के सेंट थॉमस अस्‍पताल की संक्रामक रोग यूनिट में भर्ती कराया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है। जिस तेजी के साथ यह दुनियाभर में फैल रहा है, उसे लेकर विशेषज्ञों ने इसके वैश्विक स्‍तर पर महामारी बनने को लेकर आगाह किया है।

 

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर