कौन हैं PM मोदी के राजनीतिक गुरु? जानिए देश के दिग्गज नेताओं के गुरुओं के बारे में

Sep 4, 2022
By: Medha Chawla

PM मोदी के राजनीतिक गुरू

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जीवनपथ के निर्माण में लक्ष्मणराव इनामदार की महत्वपूर्ण भूमिका थी। लक्ष्मणराव जब गुजरात में RSS के प्रान्त प्रचारक थे, उस दौरान नरेन्द्र मोदी प्रचारक थे। इन्हें वकील साहब के नाम से जाना जाता था। इन्हें ही पीएम मोदी का राजनीतिक गुरु माना जाता है।

Credit: Social-Media

PM मोदी के आध्यात्मिक गुरु

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आध्‍यात्मिक गुरु स्वामी दयानंद गिरि थे। हिमायल यात्रा के दौरान नरेंद्र मोदी की मुलाकात दयानंद गिरी से हुई थी। उन्होंने लंबे समय तक शीशमझाड़ी के दयानंद आश्रम में स्वामी दयानंद गिरी से आध्यात्म की शिक्षा ली थी।

Credit: Social-Media

महात्मा गांधी के राजनीतिक गुरु

गोपाल कृष्ण गोखले देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के राजनीतिक गुरु थे। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अग्रणी भूमिका निभाने वाले गोखले स्वतंत्रता सेनानी होने के साथ एक मंझे हुए राजनीतिज्ञ भी थे। उन्होंने ही महात्मा गांधी को देश के लिए लड़ने की प्रेरणा दी थी।

Credit: Social-Media

जवाहर लाल नेहरू के गुरु

देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को राजनीति भले ही उनके पिता मोतीलाल नेहरु से विरासत में मिली थी, लेकिन उनके असली राजनीतिक गुरु महात्मा गांधी थे। महात्मा गांधी ने बाद में जवाहर लाल नेहरू को अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी भी घोषित किया था।

Credit: Social-Media

योगी आदित्यनाथ के गुरू महंत अवैधनाथ

उत्तर प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गुरु महंत अवैधनाथ थे। वही उनको राजनीति में भी लेकर आए थे। अजय कुमार बिस्ट को योगी आदित्यनाथ बनाने वाले महंत अवैद्यनाथ ही थे।

Credit: Social-Media

मायावती के राजनीतिक गुरु

मायावती चार बार उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य की मुख्यमंत्री बनीं। यह सब संभव हुआ उनके गुरु कांशीराम की वजह से। जब मायावती IAS बनने की तैयारी कर रही थीं तो कांशीराम ने उन्हें मुख्यमंत्री बनने का सपना दिखाया था।

Credit: Social-Media

ममता बनर्जी के राजनीतिक गुरु

बहुत कम लोगों को पता होगा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कांग्रेस पार्टी के नेता और देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की राजनीति से प्रभावित थीं। राजीव गांधी भी ममता बनर्जी से बहुत स्नेह करते थे। उन्होंने ममता बनर्जी को अपने मंत्रिमंडल में जगह भी दी थी। राजीव गांधी के निधन के बाद ममता पूरी तरह टूट गई थीं। वह खुद को कमरे में बंद कर फूट-फूट कर रोया करती थीं।

Credit: Social-Media

नीतीश कुमार के गुरु

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण का बहुत बड़ा प्रभाव रहा है। छात्र राजनीति से ही नीतीश कुमार जेपी के आंदोलन से जुड़ गए थे। इसके बाद जॉर्ज फर्नांडिस को भी कभी नीतीश कुमार के राजनीतिक गुरु माना गया था। हालांकि, साल 2003 में समता पार्टी के जेडीयू में विलय के बाद दोनों नेताओं के बीच की खाई बढ़ गई थी।

Credit: Social-Media

राहुल गांधी के राजनीतिक गुरु

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर सबसे ज्यादा प्रभाव उनकी मां सोनिया गांधी का ही है। कई मौकों पर उन्होंने अपनी मां को अपना राजनीतिक गुरु बताया है। हालांकि, दिग्विजय सिंह को भी एक जमाने में राहुल गांधी का राजनीतिक गुरु माना जाता रहा है। इसके अलावा मनमोहन सिंह और शरद यादव को भी राहुल गांधी अपना राजनीतिक गुरु बताते रहे हैं।

Credit: Social-Media

केजरीवाल के राजनीतिक गुरु अन्ना हजारे

अरविंद केजरीवाल और उनकी टीम के साथियों ने अन्ना आंदोलन खड़ा करने में बड़ी भूमिका निभाई थी। इसके बाद राजनीति को बदलने की बात कहकर केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी बना ली। जिस पर अन्ना हजारे और केजरीवाल की राहें जुदा हो गईं।

Credit: Social-Media

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: Teachers Day से जुड़ी ये 10 खास बातें, सबको जानना जरूरी है

ऐसी और स्टोरीज देखें