अनोखा: सुबह कन्या तो दिन में बूढ़ी अम्मा बन जाती है ये देवी, दिन में 3 बार बदलती है अपना स्वरूप

Jul 23, 2022
By: Kaushlendra Pathak

देश का अनोखा मंदिर

भारत में कई मंदिरों का इतिहास काफी पुराना है। इनमें कई मंदिर तो रहस्यों से भरे हुए हैं। उत्तराखंड में एक ऐसा ही मंदिर है, जिसकी सच्चाई जानकर आप जरूर चौंक जाएंगे। क्योंकि, इस मंदिर में देवी मां की मूर्ति दिन में तीन बार अपना स्वरूप बदलती है।

Credit: Social-Media

चमत्कारिक मंदिर

उत्तराखंड के श्रीनगर से तकरीबन 14 किलोमीटर दूर स्थित मां धारी देवी के प्राचीन मंदिर को चमत्कारिक मंदिर भी कहा जाता है। मंदिर में हर दिन एक चमत्कार होता है, जिसे देखकर हर कोई हैरान रह जाता है।

Credit: Social-Media

अलकनंदा नदी के तट पर स्थित है मंदिर

इस मंदिर को सिद्धपीठ 'धारी देवी मंदिर' के नाम से भी जाना जाता है। धारी देवी का ये पवित्र मंदिर बद्रीनाथ रोड पर श्रीनगर और रुद्रप्रयाग के बीच अलकनंदा नदी के तट पर स्थित है।

Credit: Social-Media

चारधाम की रक्षा करती हैं देवी मां

इसके बारे में मान्यता है कि मां धारी उत्तराखंड के चारधाम की रक्षा करती हैं। धारी देवी माता पहाड़ों और तीर्थयात्रियों की रक्षक भी मानी जाती है।

Credit: Social-Media

तीन बार स्वरूप बदलती है देवी मां

इस मंदिर में मौजूद माता की मूर्ति दिन में तीन बार अपना रूप बदलती है। ऐसा दावा किया जाता है मूर्ति सुबह में एक कन्या की तरह दिखती है, दोपहर में युवती और शाम को एक बूढ़ी महिला की तरह नजर आती है।

Credit: Social-Media

द्वापर युग से स्थापित है प्रतिमा

मंदिर के पुजारियों के अनुसार, मंदिर में मां काली की प्रतिमा द्वापर युग से ही स्थापित है। कालीमठ एवं कालीस्य मठों में मां काली की प्रतिमा क्रोध मुद्रा में है, लेकिन धारी देवी मंदिर में मां काली की प्रतिमा शांत मुद्रा में स्थित है।

Credit: Social-Media

देवी के गुस्से के कारण आया था प्रलय

पौराणिक कथाओं के अनुसार, केदारनाथ में हजारों साल पहले आया प्रलय धारी देवी के गुस्से का ही नतीजा था। इस दौरान अलकनंदा नदी में आई भीषण बाढ़ में कालीमठ मंदिर बह गया था।

Credit: Social-Media

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: गधी के दूध से नहाना, पल में लोगों का राज जान लेना, होश उड़ा देगी इस रानी की कहानी

ऐसी और स्टोरीज देखें