देश का रहस्यमयी मंदिर, 8 महीने रहता है पानी के अंदर, 9 डिग्री पर है झुका

Jun 6, 2022
By: Kaushlendra Pathak

रहस्यमयी मंदिर

इस दुनिया में रहस्यमयी चीजों की कमी नहीं है। खासकर, भारत में आपको कई ऐसे मंदिर मिल जाएंगे, जिनकी गुत्थी अब तक नहीं सुलझ सकी। आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो तकरीबन 6 से 8 महीना पानी में ही डूबा रहता है।

Credit: Social-Media

रत्नेश्वर महादेव मंदिर

बनारस के 'मणिकर्णिका घाट' के पास मौजूद इस मंदिर का नाम रत्नेश्वर महादेव मंदिर है।

Credit: Social-Media

मंदिर में अद्भुत शिल्प कारीगरी

'रत्नेश्वर महादेव मंदिर' कलात्मक रूप से बेहद आलीशान है। इस मंदिर में अद्भुत शिल्प कारीगरी की गई है।

Credit: Social-Media

मंदिर की ऊंचाई केवल 6 फीट

ये मंदिर अपने एक अजीबो-गरीब रहस्य के लिए भी जाना जाता है। इस मंदिर के छज्जे की ऊंचाई जमीन से 7 से 8 फीट हुआ करती थी, जो अब केवल 6 फीट रह गई है।

Credit: Social-Media

9 डिग्री पर झुका है मंदिर

ये मंदिर सैकड़ों सालों से 9 डिग्री पर झुका हुआ है। समय के साथ इसका झुकाव बढ़ता जा रहा है।

Credit: Social-Media

ज्यादातर समय पानी में डूबा रहता है मंदिर

ये मंदिर 'मणिकर्णिका घाट' के एकदम नीचे है, जिसकी वजह से गंगा का पानी बढ़ने पर ये मंदिर 6 से 8 महीने तक पानी में डूबा रहता है।

Credit: Social-Media

3-4 महीने ही होती है पूजा

मंदिर में केवल 3-4 महीने ही पूजा हो पाती है। हालांकि, पानी में रहने के बावजूद भी इस मंदिर को कोई नुकसान नहीं होता।

Credit: Social-Media

मंदिर को लेकर कोई सही जानकारी नहीं

यह मंदिर कब बना था इसकी सही-सही जानकारी इतिहास में भी मौजूद नहीं। लेकिन, जानकारों का कहना है कि मंदिर 15 शताब्दी में बनाया गया था। ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर को अहिल्याबाई होल्कर की एक दासी ने बनवाई थी। लेकिन, नाम नहीं देने पर अहिल्याबाई ने श्राप दे दिया था। जिसके कारण मंदिर टेढ़ा हो गया।

Credit: Social-Media

मंदिर को लेकर कई कहानियां

वहीं, कुछ लोगों का कहना है कि 18वीं के दौरान एक संत ने बनारस के राजा से इस मंदिर की देखरेख करने की ज़िम्मेदारी मांगी। लेकिन, राजा ने उस संत को अपमानित कर दिया था। गुस्से में आकर संत ने श्राप दे दिया और कहा कि ये मंदिर कभी भी पूजा के लायक नहीं रहेगी। जिसके कारण यह 6 से 8 महीने तक पानी में डूबा रहता है। हालांकि, स्पष्ट रूप से इसके बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

Credit: Social-Media

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: पाकिस्तान का अनोखा पेड़, जो आज भी है अंग्रेजों का गुलाम, जंजीर से है कैद