भारत का अनोखा गांव, लोग खाते हैं एक देश में और सोते हैं दूसरे देश में

Jul 6, 2022
By: Kaushlendra Pathak

एक में खाते हैं और दूसरे में सोते हैं...

आज तक आपने लोगों को एक समय में एक ही देश में रहते हुए देखा होगा। लेकिन, भारत में एक गांव ऐसा है, जहां के लोग खाते हैं एक देश में और सोते हैं दूसरे देश में। ये बात सुनकर भले ही आपको हैरानी हो रही होगी, लेकिन सच है।

Credit: Social-Media

देश का अनोखा गांव

नागालैंड में मौजूद इस गांव का नाम लोंगवा है।

Credit: Social-Media

खेत और घर दो देशों के बीच

यहां रहने वाले कई लोगों के खेत और घर भी दो देशों के बीच है। यानी घर का बेडरूम एक देश में है, तो किचन दूसरे देश में।

Credit: Social-Media

सीमा पार करने के लिए वीजा की जरूरत नहीं

बड़ी बात ये है कि यहां के ग्रामीणों को सीमा पार करने के लिए वीजा की जरूरत नहीं होती है। दोनों देश में स्वतंत्र रूप से घूम सकते हैं।

Credit: Social-Media

काफी खूंखार होते हैं यहां के लोग

म्यांमार सीमा से सटे लोंगवा गांव में कोंयाक आदिवासी रहते हैं। इन्हें काफी खूंखार माना जाता है।

Credit: Social-Media

27 कोन्याक गांव

म्यांमार की तरफ करीब 27 कोन्याक गांव हैं। 1960 के दशक तक गांव में सिर का शिकार एक लोकप्रिय प्रथा रही है, जिस पर 1940 में प्रतिबंध लगाया गया।

Credit: Social-Media

60 पत्नियां रखने वाला मुखिया

यहां के राजा भी काफी फेमस हैं। उनके पास 60 पत्नियां हैं।

Credit: Social-Media

गांव के मुखिया भी काफी फेमस

'द अंग', जो गांव के वंशानुगत मुखिया हैं उनकी 60 पत्नियां हैं। म्यांमार और अरुणाचल प्रदेश के 70 से अधिक गांवों में उनका प्रभुत्व है।

Credit: Social-Media

गांव में अफीम का सेवन अधिक

इस गांव में अफीम का सेवन अधिक होता है, जिसकी पैदावार गांव में नहीं की जाती है बल्कि म्यांमार से सीमा पार तस्करी की जाती है।

Credit: Social-Media

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: दुनिया का अनोखा पेड़, जो अपने तने में जमा कर सकता है इतने लाख लीटर पानी

ऐसी और स्टोरीज देखें