भारतीय नौसेना के सामने पस्त हो जाते हैं चीन-पाकिस्तान, जानिए अमेजिंग फैक्ट्स

Sep 2, 2022
By: Aditya Sahu

पाकिस्तान को चटाई थी धूल

3 दिसंबर 1971 को पाकिस्तान ने हमारे सीमावर्ती क्षेत्र में हमला बोल दिया था। इसके बाद भारत ने 'ऑपरेशन ट्राइडेंट' नाम से जवाबी ऑपरेशन चलाकर पाकिस्तान को धूल चटाई थी। इस ऑपरेशन को सफल बनाने में भारतीय नौसेना की अहम भूमिका थी।

Credit: twitter

आजादी के बाद फिर से हुआ गठन

साल 1947 में देश आजाद होने के बाद भारतीय नौसेना का फिर से गठन हुआ। इसे भारतीय नौसेना नाम दिया गया। आजादी से पहले इसे रॉयल इंडियन मरीन के नाम से जाना जाता था। इसके बाद साल 1958 में वाइस एडमिरल रामदास कटारी को देश का पहला नौसेना अध्यक्ष बनाया गया।

Credit: twitter

छत्रपति शिवाजी, भारतीय नौसेना के पिता

भारतीय नौसेना की स्थापना साल 1612 में ही हो गई थी। भारतीय नौसेना का पिता मराठा सम्राट छत्रपति शिवाजी को माना जाता है।

Credit: twitter

INS विक्रांत, देश का पहला विमान वाहक पोत

देश का पहला विमान वाहक पोत INS विक्रांत था। इसे ब्रिटेन के रॉयल नेवी से साल 1957 में खरीदा गया था।

Credit: twitter

एशिया की सबसे बड़ी नौसेना अकादमी

आपको जानकर गर्व होगा कि भारतीय नौसेना अकादमी एशिया की सबसे बड़ी नौसेना अकादमी है। यह केरल के कन्नूर के एझिमाला में है।

Credit: twitter

देश की पहली परमाणु पनडुब्बी INS अरिहंत

देश की पहली परमाणु पनडुब्बी INS अरिहंत पानी के अंदर घुसकर दुश्मन के जहाज को तहस-नहस कर देती है।

Credit: twitter

मार्कोस कमांडो

भारतीय नौसेना के मार्कोस कमांडो दुनिया के सबसे कुशल एवं ताकतवर कमांडो माने जाते हैं।

Credit: twitter

पाकिस्तानी सबमरीन को डुबाया

INS अरिहंत देश की पहली ऐसी पनडुब्बी है। जिसकी मारक क्षमता जल, थल और आकाश में भी है। साल 1971 के युद्ध में पाकिस्तानी सबमरीन गाजी को डुबाने का श्रेय भारतीय नौसेना को ही जाता है।

Credit: twitter

पलभर में दे सकती है दुश्मन को मात

भारतीय नौसेना दुनिया की सातवीं सबसे बड़ी नौसेना है। यह देश की समुद्री सीमाओं की रक्षा करने और दुश्मनों को मात देने में पूरी तरह सक्षम है।

Credit: twitter

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: IAC Vikrant से थर-थर कांपेंगे दुश्मन, कहा जाता है 'समंदर का महाबली'

ऐसी और स्टोरीज देखें