इस तरह भारत में मना था पहला स्वतंत्रता दिवस, 15 अगस्त की कुछ ऐतिहासिक तस्वीरें

Aug 5, 2022
By: Kaushlendra Pathak

आजादी के दिन जश्न में डूबे थे लोग

15 अगस्त 1947 को देश आजाद हुआ था। आजादी से लोग काफी उत्साहित थे और सड़कों पर नाच रहे थे। राष्ट्रपति भवन, संसद आदि के आस-पास लोगों का हुजूम लगा था।

Credit: Social-Media

...तो इसलिए 15 अगस्त को मिली आजादी

वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने 15 अगस्त के दिन को ही आजादी का दिन इसीलिए चुना था, क्योंकि दो वर्ष पहले 15 अगस्त के दिन ही मित्र देशों की सेना के सामने जापान ने समर्पण किया था।

Credit: Social-Media

जर्मनी में फहराया था तिरंगा

भिकाजी रुस्तम कामा पहली ऐसी शख्स थीं, जिन्होंने 22 अगस्त, 1907 को जर्मनी में तिरंगा फहराया था। लेकिन इस तिरंगे में और भारत के राष्ट्रीय ध्वज में थोड़ा अंतर था।

Credit: Social-Media

आजादी के दिन गांधी जी ने अनशन किया था

गांधीजी ने आजादी का दिन अनशन कर के मनाया था। गांधीजी आजादी के दिन कोलकाता में थे।

Credit: Social-Media

श्रीलंका और म्यांमार भी अलग हुआ था

1947 के भारत विभाजन के दौरान ही ब्रिटिश भारत में से श्रीलंका और म्यांमार को भी अलग किया गया, लेकिन इसे भारत के विभाजन में नहीं शामिल किया जाता है।

Credit: Social-Media

1950 में बना राष्ट्रगान

भारत 15 अगस्त को आजाद जरूर हो गया, लेकिन उसका अपना कोई राष्ट्र गान नहीं था। रवींद्रनाथ टैगोर जन-गण-मन 1911 में ही लिख चुके थे, लेकिन यह राष्ट्रगान 1950 में बन पाया।

Credit: Social-Media

15 अगस्त को सीमा का निर्धारण नहीं हुआ

15 अगस्त तक भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा रेखा का निर्धारण नहीं हुआ था।17 अगस्त को रेडक्लिफ लाइन की घोषणा से इसका फैसला हुआ।

Credit: Social-Media

लाल किले से झंडा फहराते हैं पीएम

हर स्वतंत्रता दिवस पर भारतीय प्रधानमंत्री लाल किले से झंडा फहराते हैं। लेकिन 15 अगस्त, 1947 को ऐसा नहीं हुआ था।

Credit: Social-Media

1947 में लालकिले से फहराया गया था झंडा

लोकसभा सचिवालय के एक शोध पत्र के मुताबिक नेहरू ने 16 अगस्त, 1947 को लालकिले से झंडा फहराया था।

Credit: Social-Media

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: ऐसा नजारा केवल पाकिस्तान में ही दिख सकता है, फोटोज देख लगाएंगे ठहाके

ऐसी और स्टोरीज देखें