पाकिस्तान का इकलौता भुतहा महल, जिससे जुड़ी है एक भारतीय की प्रेम कहानी

May 17, 2022
By: Kaushlendra Pathak

दिलचस्प है इस महल की कहानी

इस दुनिया में कई अमर प्रेम कहानिया हैं। जिन पर किताबें लिखी गईं, फिल्में तक बनी। लेकिन, कुछ ऐसी भी प्रेम कहानियां हैं जिन पर लोगों ने ज्यादा गौर नहीं किया। आज हम आपको एक ऐसी ही ऐतिहासिक प्रेम कहानी के बारे में बताएंगे, जिसका संबंध हिन्दुस्तान और पाकिस्तान से है।

Credit: Social-Media

बिजनेसमैन ने कराची में बनवाया था महल

आजादी से पहले पाकिस्तान भारत का ही हिस्सा था। 1927 में एक भारतीय बजिनेसमैन शिवरतन चंद्ररतन मोहट्टा ने पाकिस्तान के कराची शहर में एक शानदार पैलेस का निर्माण करवाया था।

Credit: Social-Media

महल की गिनती चुनिंदा पर्यटन स्थलों में होती है

अब इस महल की गिनती पाकिस्तान के चुनिंदा पर्यटन स्थलों में होती है। इस पैलेस से दो दिलचस्प कहानियां जुड़ी हैं एक शिवरतन की प्रेमकथा और दूसरा ये कि ये पैलेस में अब भूतों का साया है।

Credit: Social-Media

बिजनेसमैन ने पत्नी के लिए बनवाया था महल

शिवरतन ने अपनी पत्नी की जान बचाने के लिए इस महल का निर्माण करवाया था।

Credit: Social-Media

डॉक्टर के कहने पर बनवाया गया था महल

ऐसा कहा जाता है कि शिवरतन की पत्नी किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हो गई थीं। इसके लिए इलाज डॉक्टर ने कहा था कि अपनी पत्नी को एक ऐसे स्थान पर रखो जहां उन्हें ताजी समंदर की हवा मिलती रहे।

Credit: Social-Media

समंदर के पास हुआ था महल का निर्माण

डॉक्टर के कहने पर शिवरतन ने कराची के क्लिफटन में समंदर के पास इस महल का निर्माण करवाया था।

Credit: Social-Media

मुगल शैली में बनवाया गया था महल

इस महल को मुगल शैली में बनवाया गया था और इसमें जोधपुर से लाए गुलाबी और गिजरी पत्थरों का इस्तेमाल किया गया था।

Credit: Social-Media

महल में भूतों का साया

ऐसा कहा जाता है कि अब इस महल में भूतों का साया है। इसे पाकिस्तान के चुनिंदा भुतहा स्थलों में भी गिना जाता है।

Credit: Social-Media

महल के अंदर आत्मा का अहसास

महल के बारे में कहते हैं कि यहां के चौकीदारों ने अंदर किसी आत्मा के होने का अहसास किया है। इतना ही नहीं महल के अंदर की कई चीजे सुबह अपनी असल जगहों से बदली हुई नजर आती हैं। हालांकि, इसकी पूरी सच्चाई क्या है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

Credit: Social-Media

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: बेहद अनोखा है ये मंदिर, दिन में 3 बार रंग बदलता है यहां का शिवलिंग