स्वर्ण मंदिर की नगरी अमृतसर

By: Shivam Pandey
Aug 31, 2020

16वीं सदी में हुई स्थापना

इस पवित्र नगरी की स्थापना 16वीं सदी में सिखों के चौथे गुरु रामदास जी ने की थी। यहां हर साल लाखों की तादाद में श्रद्धालु आते हैं।

Credit: Zoom

अमृत सरोवर पर पड़ा नाम

अमृतसर का नाम पवित्र अमृत सरोवर के नाम पर रखा गया है। रामदास जी के बाद उनके उत्तराधिकारी गुरु अर्जुन देवजी ने साल 1601 में इस शहर का विकास किया था। अमृतसर में स्वर्ण मंदिर, जलियावाला बाघ और वाघा बॉर्डर जैसे स्थान हैं।

Credit: shutterstock

स्वर्ण मंदिर

अमृतसर की यात्रा स्वर्ण मंदिर के अंदर हरमिंदर साहिब में मत्था टेकेने और लंगर खाए बिना पूरी नहीं मानी जाती है। स्वर्ण मंदिर का निर्माण 16वीं शताब्दी में पांचवें सिख गुरु अर्जुन देव जी ने करवाया था। इस गुरुद्वारे की ऊपरी छत को 400 किग्रा सोने के वर्क से ढंका हुआ है।

Credit: shutterstock

गोविंदगढ़ फोर्ट

स्वर्ण मंदिर के अलावा गोविंदगढ़ फोर्ट घूमने की बेहतरीन जगह है। फोर्ट में सांस्‍कृतिक शो का भी आनंद ले सकते हैं। यहां पर भांगड़ा, मार्शल आर्ट्स का आयोजन होता है। इसके अलावा लाइट और साउंड शो यहां का मुख्य आकर्षण है।

Credit: shutterstock

जलियांवाला बाघ

अमृतसर स्थित जलियांवाला बाघ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की धरोहर है। इसी जगह जनरल डायर ने निहत्थे मासूम लोगों को गोलियों से भून दिया था। जलियांवाला भाग की दीवारों में आज भी गोलियों के निशान है।

Credit: shutterstock

वाघा बॉर्डर

स्वर्ण मंदिर से करीब 30 किलोमीटर दूर स्थित है भारत पाकिस्तान की वाघा बॉर्डर। बीटिंग रिट्रीट और चेंज ऑफ गार्ड सेरेमनी को देखने यहां हर रोज बड़ी संख्या में पर्यटकों के साथ ही आम लोग भी पहुंचते हैं।

Credit: shutterstock

दुर्गियाना मंदिर

स्वर्ण मंदिर से करीब 1.5 किलोमीटर दूर हिंदुओं का प्रसिद्ध दुर्गियाना मंदिर स्वर्ण मंदिर की ही तरह दिखता है। यह मंदिर देवी दुर्गा को समर्पित है। साल 1908 में हरसई मल कपूर ने इस मंदिर का निर्माण करवाया था।

Credit: shutterstock

म्यूजियम लायन ऑफ पंजाब

म्यूजियम लायन ऑफ पंजाब महाराज रंजीत सिंह को समर्पित है। इस म्यूजियम में महाराजा रंजीत सिंह की बहादुरी और शौर्य से भरपूर गतिविधियों को दिखाया गया है।

Credit: shutterstock

अमृतसर के लजीज खाने

अमृतसर लजीज खाने के लिए भी मशहूर है। छोले कुलचे, छोले भटूरे, लस्सी, फालूदा कुल्फी को चखना बिल्कुल भी न भूलें।

Credit: shutterstock

शॉपिंग के लिए भी बेहतरीन जगह

अमृतसर शॉपिंग के लिए भी बेहतरीन जगह है। पटियाला सूट, पंजाबी जूतियां और सिख धर्म से जुड़ी कई चीजें आप खरीद सकते हैं।

Credit: shutterstock