जानें 296 किमी लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का खास बातें

Jul 14, 2022
By: Kuldeep Raghav

16 को पीएम करेंगे लोकार्पण

296 किमी लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को 16 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकार्पित करेंगे।

Credit: UPEIDA

कैथेरी गांव में होगा उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जालौन जिले के उरई तहसील के कैथेरी गांव में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करेंगे।

Credit: UPEIDA

2020 में रखी आधारशिला

फरवरी 2020 में आधारशिला रखते हुए, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि यह परियोजना हजारों नौकरियों का सृजन करेगा।

Credit: UPEIDA

6 घंटे में चित्रकूट से दिल्ली

विकास की दौड़ में उपेक्षित रहा बुंदेलखंड राजधानी दिल्ली से सीधे जुड़ेगा। अब 6 घंटे में चित्रकूट से दिल्ली पहुंचेंगे।

Credit: UPEIDA

7 ज़िलों को जोड़ता है

यह चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया और इटावा जैसे 7 ज़िलों को जोड़ता है।

Credit: UPEIDA

दिल्ली से जुड़ेगा बुंदेलखंड

बुंदेलखंड के सीधा दिल्ली से जुड़ने का लाभ लोगों को मिलेगा और पिछड़ेपन के दाग से बुंदेलखंड मुक्त हो सकेगा।

Credit: UPEIDA

इन नदियों के ऊपर से गुजरेगा

यह एक्सप्रेस वे कई नदियां बागान, केन, श्यामा, चंदावल, बिरमा, यमुना, बेतवा और सेंगर को पार करेगा।

Credit: UPEIDA

8 माह पहले पूरा हुआ

इस एक्सप्रेस-वे को तय समय से 8 महीने पहले पूरा कर लिया गया है।

Credit: UPEIDA

15,000 करोड़ की लागत

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPEIDA) द्वारा विकसित इस परियोजना की कुल लागत करीब 15,000 करोड़ रुपए है।

Credit: UPEIDA

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

अगली स्टोरी: केरल क्यों है घूमने के लिए बेस्ट डेस्टिनेशन

ऐसी और स्टोरीज देखें