By: Shivam Pandey

भोपाल की टूर गाइड: झीलों के शहर में क्‍या देखें आप

May 25, 2020

झीलों का शहर

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल को झीलों का शहर भी कहा जाता है। भोपाल को 11वीं सदी में उज्जैन के राजा भोज ने बसाया था।

Credit: instagram

ताजुल मस्जिद

भोपाल झीलों के अलावा मस्जिदों के लिए जाना जाता है। भोपाल में स्थित ताजुल मस्जिद की विश्व की तीसरी बड़ी मस्जिद है।

Credit: istock

भोजपुर शिव मंदिर

भोपाल घूमने जा रहे हैं तो 32 किमी दूर भोजपुर शिव मंदिर जरूर जाएं। इस मंदिर में 22 फीट ऊंचा शिवलिंग है।

Credit: istock

भीमबेटका की गुफाएं

भीमबेटका की गुफाएं भोपाल से 46 किमी दूर रायसेन में है। यहां आदि मनावों की चित्रकारी देख सकते हैं। यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर घोषित कर दिया है।

Credit: istock

सांची का स्तूप

भोपाल से पूर्व की तरफ सांची है। सांची को सांची के स्तूप के लिए जाना जाता है। इसे भी यूनेस्को ने विरासत की सूची में शामिल किया गया है।

Credit: istock

बड़ा तालाब

भोपाल में 18 झील और एक नदी है। तभी इसे सिटी ऑफ लेक कहा जाता है। सबसे बड़े तालाब को बड़ा तालाब कहा जाता है जिसे 11वीं सदी में बनाया गया था।

Credit: Zoom

अपर लेक

भोपाल का अपर लेक को बड़ा तालाब भी कहा जाता है। ये भोपाल के पश्चिम हिस्से में स्थित है। अपर लेक एशिया की सबसे बड़ी कृत्रिम झील है।

Credit: istock

ट्राइबल म्यूजियम

भोपाल में स्थित ट्राइबल म्यूजियम देश की जनजातियों की जीवनशैली और उनके इतिहास से रूबरू कराता है। ये श्यामला हिल्स में स्थित है।

Credit: facebook

इंदिरा गांधी मानव संग्राहलय

ट्राइबल म्यूजियम की तरह ही भोपाल का इंदिरा गांधी मानव संग्राहलय भी श्यामला हिल में स्थित है। 200 एकड़ में फैला ये संग्राहलय मानव के विकास की कहानी बताता है।

Credit: Facebook

गौहर महल

झीलों के साथ-साथ भोपाल को नवाबों का शहर भी कहा जाता है। यहां बड़े तालाब के पास स्थित गौहर महल भोपाल हिन्‍दू और मुगल कला का बेहतरीन संगम है।

Credit: shutterstock

रायसेन का किला

मध्यप्रदेश के किले और महल इसकी पहचान है। इनमें से एक है रायसेन का किला। पहाड़ी की चोटी पर बने इस किले के आस-पास कई गुफाएं हैं।

Credit: shutterstock

वन विहार

भोपाल शहर के बीचों-बीच वनविहार स्थित है। इसे नेशनल पार्क भी कहा जाता है। ये पांच किमी में स्थित है। यहां आप कई जानवरों को आसानी से देख सकते हैं।

Credit: shutterstock

Discover these and more on www.timesnowhindi.com