​अगर करते हैं Truecaller का इस्तेमाल तो सावधान!

Aug 2, 2022

By: Saket Baghel

​Truecaller के जरिए हो रही है ठगी

साइबर अपराधी नए-नए तरीकों से लोगों को ठगने की फिराक में रहते हैं। अब दिल्ली से एक नया मामला Truecaller के जरिए ठगी का सामने आया है। ट्रूकॉलर ऐप का इस्तेमाल लोग अनलॉक या स्पैम कॉल्स से बचने के लिए करते हैं। अब अपराधियों ने इससे भी लोगों का ठगने का तरीका निकाल लिया है।

Credit: UnSplash

​ऐसे होती है ठगी

एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस को जांच में पता चला कि दरअसल ये ठग ऐप में बैंकों और नेटवर्किंग कंपनियों के कस्टमर केयर नाम से अपनी ID बनाए हुए हैं। ऐसे में इन नंबर्स से लोगों को कॉल जाने पर उन्हें संबंधित कंपनियों का नाम दिखाई देता है।

Credit: UnSplash

​कोई नहीं करता शक

इस वजह से कोई इन पर शक नहीं करता और आसानी से ठगों के झांसे में आ जाते हैं। फिर बैंकिंग डिटेल मांगकर बदमाश लोगों का अकाउंट खाली कर देते हैं।

Credit: UnSplash

​नाम लोकेशन भी देख लेते हैं

इतना ही नहीं ये ठग खुद भी अपने फोन में ट्रूकॉलर के जरिए सामने वाले शख्स का नाम और उनका लोकेशन भी देख लेते हैं। ऐसे में जब अपराधी उन्हें उनके नाम से पुकारते हैं तो सामने वाला शख्स भी उन्हें संबंधित कंपनी का अधिकार सोच बैठते हैं। फिर इसी चूक का फायदा उठाकर ठगी की घटना को अंजाम दिया जाता है।

Credit: UnSplash

​कुछ लोग हुए हैं गिरफ्तार

रिपोर्ट में बताया गया है कि उत्तर जिला पुलिस ने बीते दिनों ट्रूकॉलर के जरिए ठगने वाले गैंग का खुलासा किया था। आरोपियों ने ऐप में कस्टमर केयर के नाम से ID बना रखी थी। वे लोगों को कॉल कर बैंकों के क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने, केवाईसी अपडेट जैसे बहाने से लोगों को ठगते थे।

Credit: UnSplash

​ऐसे बचें

किसी को भी कॉल के जरिए अपनी बैंकिंग डिटेल जैसे- अकाउंट नंबर, OTP और पिन जैसी जानकारियां ना दें।

Credit: UnSplash

​बैंक से प्राप्त करें जानकारी

इसी तरह अपने अकाउंट के बारे में जानकारी भी बैंक जाकर की प्राप्त करें।

Credit: UnSplash

अनजान लिंक को ना करें क्लिक

संदेह होने पर किसी भी अनजान लिंक को क्लिक ना करें।

Credit: UnSplash

​हेल्पलाइन नंबर्स से मांगें मदद

ठगी होने की स्थिति में तुरंत हेल्पलाइन नंबर्स पर शिकायत दर्ज करें।

Credit: UnSplash

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

Next: महज 5,299 रु के फोन में मस्त-मस्त हैं फीचर्स