भारतीय क्रिकेट के 'दादा' सौरव गांगुली

By: Kuldeep Raghav
Aug 13, 2020

बीसीसीआई के अध्‍यक्ष

भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में सबसे सफल कप्तानों में से एक रहे सौरव गांगुली की शानदार बल्लेबाजी के क्या कहने! दादा के नाम से मशहूर गांगुली वर्तमान में बीसीसीआई के अध्‍यक्ष हैं।

Credit: Twitter

​एक शख्‍स के नाम 'हजार'

गांगुली को प्यार से दादा कहकर बुलाया जाता है जिसका बंगाली में मतलब बड़ा भाई होता है। गांगुली को प्रिंस ऑफ कोलकाता, द महाराजा, द गॉड ऑफ द ऑफ साइड, दादा, द वारियर प्रिंस के नाम से भी पुकारा जाता है।

Credit: Instagram

​स्‍टेट और स्‍कूल टीम से शुरुआत

गांगुली ने करियर की शुरूआत स्टेट और स्कूल टीम में खेलने के साथ की। उनके नाम एक दिवसीय मैचों में आठवें नंबर सबसे अधिक रन बनाने का रिकार्ड है।

Credit: Instagram

​भाई ने दिखाई क्रिकेट की राह

क्रिकेट का चस्का सौरव गांगुली को लगाने वाले उनके बड़े भाई स्नेहाशीष थे। भाई ने ही उन्‍हें क्रिकेट की राह दिखाई।

Credit: Twitter

भाई ने दिखाई क्रिकेट की राह

क्रिकेट का चस्का सौरव गांगुली को लगाने वाले उनके बड़े भाई स्नेहाशीष थे। भाई ने ही उन्‍हें क्रिकेट की राह दिखाई।

Credit: Twitter

​11000 हजार से अधिक रन का रिकॉर्ड

बाएं हाथ के बल्लेबाज सौरव गांगुली के नाम 11,000 से भी अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड है। गांगुली बांए हाथ के बल्लेबाज हैं जिनके रन अधिकतर ऑफ साइड से बनते हैं।

Credit: Twitter

​ऐसी रही कप्‍तानी

गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया ने 49 में से 21 मैच जीते हैं। गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम आठवें नंबर से दूसरे नंबर पर पहुंची।

Credit: Twitter

सर्वाधिक स्‍कोर का रिकॉर्ड

1999 क्रिकेट वर्ल्ड कप में राहुल द्रविड के साथ मिलकर गांगुली ने 318 रन की पार्टनरशिप की जो वर्ल्डकप के इतिहास का सबसे अधिक स्कोर है।

Credit: Instagram

ऐसे मिला कप्‍तानी का मौका

2000 में टीम के कुछ खिलाड़ी मैच फिक्सिंग में फंसे और उस समय के कप्तान सचिन तेंदुलकर ने कप्तानी छोड़ दी जिसके बाद गांगुली को कप्तान नियुक्त किया गया।

Credit: Twitter

मिल चुका है पद्मश्री

2004 में गांगुली को पद्मश्री (भारत का सबसे उच्च सिविलियन अवार्ड) दिया गया। पश्चिम बंगाल की सरकार ने उन्हें बंगा बिभुषन अवार्ड से नवाजा।

Credit: Instagram