लाइफ में सुपर सक्‍सेस पानी है तो सच‍िन तेंदुलकर से सीखें ये 10 सबक

Apr 28, 2020

By: Medha Chawla

लक्ष्य का पीछा करें

सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में कभी लक्ष्य का पीछा करना नहीं छोड़ा। उन्हें दो दशक तक विश्व कप उठाने का इंतजार करना पड़ा था।

Credit: BCCL

अहंकार से दूरी

इस दिग्गज क्रिकेटर ने अपने जीवन में सब कुछ हासिल किया लेकिन कभी किसी बात का अहंकार नहीं किया और किसी को छोटा नहीं दिखाया।

Credit: Instagram

एकजुटता में जीत

सचिन हमेशा टीम प्लेयर माने गए। वो सभी खिलाड़ियों के साथ बनाकर चलते थे और यही टीम की ताकत बनती थी।

Credit: Facebook

काम से जवाब

मास्टर ब्लास्टर ने कभी शब्दों से नहीं बल्कि हमेशा अपने बल्ले से आलोचकों को जवाब दिया। आप भी अपने काम को हथियार बनाएं।

Credit: Zoom

संतुष्टि नहीं..

अगर कुछ बड़ा हासिल करना है तो संतोष से काम नहीं बनता। आपको हमेशा आगे बढ़ने के बारे में रणनीति बनानी चाहिए।

Credit: Instagram

अच्छा व्यवहार

कोई भी विरोधी खिलाड़ी हो, सब उनकी तारीफ करते हैं, इसकी वजह उनका व्यवहार रहा। ये आपके जीवन में अहम भूमिका निभाता है।

Credit: TOI

फ‍िटनेस जरूरी

सच‍िन भले ही मैदान से दूर हैं लेकिन अभी भी फ‍िट हैं। अपने गोल को पाने के लिए शरीर का ध्‍यान रखना जरूरी है।

Credit: Zoom

याद रखो उनको..

जिन्होंने भी सचिन के जीवन में कुछ ना कुछ योगदान दिया, उनको वो कभी भूले नहीं। करियर के अंतिम भाषण में उन्होंने सबका नाम लेकर शुक्रिया कहा था।

Credit: Twitter

बड़ों का सम्मान

क्रिकेट जगत हो या फिर कोई और क्षेत्र, सचिन ने हमेशा अपने बड़ों का आदर किया और कभी किसी का अपमान नहीं किया।

Credit: Instagram

सीखने की उम्र नहीं

मास्टर ब्लास्टर ने करियर के अंतिम दिनों तक सीखना जारी रखा। किसी के लिए भी सीखने की उम्र नहीं होती।

Credit: Instagram