डाइट में शामिल करें ये हेल्‍दी मसाले

By: Shivam Pandey
Jul 24, 2021

रसोई बिना मसालों के अधूरी

भारतीय रसोई बिना मसालों के अधूरी है। ये मसाले जहां खाने को स्वादिष्ट बनाते हैं। वहीं, दूसरी तरफ रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाते हैं। कोरोना काल में किचन में कई मसालों के जरिए इम्युनिटी को बढ़ाकर रोगों के जोखिम से बच सकते हैं।

Credit: istock

हल्दी

हल्दी एंटीसेप्टिक होने के साथ ही एंटीइंफ्लेमटरी और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरी होती है।

Credit: Zoom

​काली मिर्च

काली मिर्च सर्दी-जुकाम, कफ-खांसी आदि से बचाने बहुत कारगर होता है। लौंग के साथ काली मिर्च खाते रहने से कभी कैंसर नहीं होता। दांतों को सुरक्षित रखने में भी सक्षम है।

Credit: istock

इलायची

इलायची को रोजाना डाइट में शामिल करने से शरीर स्वस्थ होने के साथ-साथ त्वचा भी खूबसूरत बनी रहती हैं। इलायची फेफड़े के रक्त संचार को सही बनाता है। जिसकी वजह से अस्थमा और सर्दी-जुकाम जैसी समस्याओं में कम परेशानी होती हैं।

Credit: istock

अजवाइन

अजवाइन संक्रमण से बचाने वाला होता है। इसे पानी में उबाल कर पीने से बुखार और संक्रमण दोनों ही दूर होते हैं। आजवाइन में मौजूद नियासिन और थाइमोल ब्लड सर्कुलेशन को भी सुधारता है। ये दिल और कोलेस्ट्राल के लिए फायदेमंद होता है।

Credit: istock

दालचीनी

दालचीनी में सिनामलडिहाइड होता है जो एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल भी होता है। यही कारण है कि हर तरह के इंफेक्शन में इसका पानी पीना बहुत काम करता है। संक्रमण, गले में खराश, सर्दी-जुकाम से बचाव में ये बहुत कारगर होता है।

Credit: istock

लहसुन का पेस्ट

निमोनिया होने पर लहसुन का पेस्ट भी सीने पर लगाना फायदेमंद होता है। लहसुन का प्रयोग सुबह खाली पेट करना हाई बीपी में भी बहुत फायदेमंद होता है।

Credit: istock

​तेज पत्ता

तेज पत्ता दिमाग को शांत करने के साथ ही स्‍ट्रेस को भी दूर करता है। इसे जलाने पर मिलने वाली गंध थकान और च‍िड़च‍िड़ाहट भी दूर करती है। इसके अलावा ये इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत करने वाला भी माना जाता है।

Credit: istock

जीरा

खाने का स्वाद बढ़ाने वाला जीरा स्वास्थ के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। थाइमोल से भरपूर जीरे की तासीर ठंडी होती है। यह पेट के पीएच लेवल को संतुलित करने में मदद करता है। तथा पेट में जलन, सूजन और एसिडिटी की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

Credit: istock