जानें लहसुन के कमाल के फायदे

Jan 17, 2021

By: Shivam Pandey

इतना पौष्‍ट‍िक

लहसुन की एक कली में भरपूर मात्रा में व‍िटाम‍िन सी और बी6 के अलावा मैंगनीज भी पाया जाता है। इसमें और भी न्‍यूट्र‍िएंट्स होते हैं।

Credit: Zoom

अनेक रोगों का नाश

आयुर्वेद ने लहसुन के कई फायदे गिनाए हैं। लहसुन की एक कली हमारे अंदर पैदा होने वाले अनेक रोगों का नाश कर सकती है।

Credit: istock

नेचुरल एंटी-बायोटिक

लहसुन एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह कार्य करता है। ये एक नेचुरल एंटी-बायोटिक है। ये कई तरह के संक्रमण को दूर करने में कागर होता है साथ ही इसमें हीलिंग का भी गुण होता है।

Credit: istock

एंटीबायोटिक, एंटीवायरल गुण

लहसुन में एंटीबायोटिक, एंटीवायरल और एंटीफंगल गुण होते हैं। लहसुन इम्‍यूनिटी बूस्‍टर, एंटीबैक्‍टीरियल, एंटीवायरल और एंटी-फंगल गुण से भरा होती हैं।

Credit: istock

खांसी और जुकाम से लड़ने में मदद

पुरुषों के लिए भुना हुआ लहसुन बेहद फायदेमंद होता है। इसे खाने सिर्फ सर्दी, खांसी और जुकाम से लड़ने में मदद मिलती है साथ ही मेल हार्मोन में भी इजाफा होता है।

Credit: istock

हृदय को मजबूत रखने में मदद

हृदय को मजबूत रखने के लिए भी लहसुन खाने की सलाह दी जाती है। पाचन क्रिया को बढ़ाने के लिए लहसुन रामबाण औषधि की तरह कार्य करता है।

Credit: istock

पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद

लहसुन में फाइबर की मात्रा पाई जाती है, जो पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। हर रोज सुबह खाली पेट एक या दो कच्चा लहसुन चबाएं और उसके बाद एक गिलास पानी पी लें। आपको कुछ दिन में फर्क साफ दिखने लगेगा।

Credit: istock

उच्च रक्तचाप की समस्या

जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या है उनके लिए खाली पेट लहसुन का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है।ये ब्लड सर्कुलेशल को बढ़ाने का काम करता है।

Credit: istock

बवासीर, कब्ज़ का उपचार

लहसुन बवासीर, कब्ज़ और कान दर्द के उपचार में भी सहायक है। इसके अलावा लहसुन खाने से हाइपरटेंशन के लक्षणों से आराम मिलता है।

Credit: istock

सेक्स लाइफ पर असर

कभी-कभी सेक्स लाइफ भी सही नहीं रहने से उनकी शादीशुदा जिंदगी पर इसका असर पड़ता है ऐसे में यदि पुरुष नियमित तौर पर शहद और लहसुन का एक साथ सेवन करें तो ये उनकी इस तरह की सभी समस्याओं को जड़ से खत्म कर सकता है।

Credit: istock

श्वसन तंत्र के लिए लाभदायक

लहसुन श्वसन तंत्र के लिए बहुत लाभदायक होता है।यह ट्यूबरक्लोसिस (तपेदिक), अस्थमा, निमोनिया, ज़ुकाम, ब्रोंकाइटिस, पुरानी सर्दी, फेफड़ों में जमाव और कफ़ आदि रोकथाम तथा उपचार में बहुत प्रभावशाली होता है।

Credit: istock