आंखें खोलती हैं ये 10 बॉलीवुड फ‍िल्‍में, उठे गंभीर सामाज‍िक मुद्दे

Apr 22, 2020

By: Kuldeep Raghav

पैडमैन

अक्षय, सोनम की 'पैडमैन' में मह‍िलाओं की पीर‍ियड्स से जुड़ी समस्‍या को उठाया गया है। फिल्म अरुणाचलम मुरुगुनांथम की असल कहानी पर आधारित है।

Credit: Instagram

​न्यूटन

राजकुमार राव अभिनीत फ‍िल्‍म न्यूटन बहुत ही प्रासंगिक संदेश देती है और मतदान की व्‍यवस्‍था जैसे ज्वलंत मुद्दे को उठाती है।

Credit: Twitter

टॉयलेट एक प्रेमकथा

अक्षय और भूमि की इस फिल्म में स्वच्छ भारत अभियान का संदेश दिया गया है। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे महिलाएं खुले में शौच करने के लिए मजबूर हैं।

Credit: Twitter

थ्री इडियट्स

आमिर की फ‍िल्‍म थ्री इडियट्स देश की शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाती है। फ‍िल्‍म बताती है कि शिक्षा रटने की चीज नहीं बल्कि उसे अंदरूनी तौर से ग्रहण करने और समझने की जरूरत है।

Credit: Instagram

प‍िंक

प‍िंक में लड़क‍ियों को लेकर समाज की तंग सोच द‍िखाई गई है। इसे एक सामाज‍िक क्रांति के तौर पर देखा गया था।

Credit: Twitter

अमिताभ का डायलॉग

फ‍िल्‍म में तापसी पन्‍नू और अमिताभ बच्‍चन अहम भूम‍िकाओं में थे। अमिताभ का वन लाइनर - ना का मतलब ना होता है, बेहद चर्च‍ित हुआ था।

Credit: Zoom

आर्टिकल 15

आयुष्मान की फिल्म आर्टिकल 15 समाज के न‍िचले कमजोर वर्ग के खिलाफ हो रहे अत्याचार और भेदभाव पर आधारित है जो कानून बनने के बाद भी जारी है।

Credit: Twitter

बत्‍ती गुल मीटर चालू

शाहिद कपूर की इस फ‍िल्‍म में बिजली कंपन‍ियों की उपभोक्‍ताओं के साथ धोखाधड़ी को उठाया गया है। फ‍िल्‍म फर्जी ब‍िल के मुद्दे को संवेदनशीलता के साथ उठाती है।

Credit: Twitter

बाला

आयुष्‍मान की फ‍िल्‍म बाला गजब का संदेश देती है। यह फ‍िल्‍म बताती है कि आप रंग और रूप में जैसे हैं, वैसे ही अच्‍छे हैं। वहीं दूसरों का मजाक भी नहीं बनाने का संदेश देती है।

Credit: twitter

​जॉली एलएलबी सीरीज

जॉली एलएलबी सीरीज की दोनों फ‍िल्‍में भारतीय कानून और न्‍याय व्‍यवस्‍था के लचर रवैये को उजागर करती हैं। फ‍िल्‍में दिखाती हैं कि कैसे कानून और न्‍याय व्‍यवस्‍था में दबंगई हावी और बेचारा गरीब न्‍याय की गुहार लगाता रह जाता है।

Credit: Instagram

लिपस्टिक अंडर माय बुर्क़ा

विवादों में रही फिल्म लिपस्टिक अंडर माय बुर्का महिलाओं की आजादी को जकड़ने वाली बेड़ियों पर वार करती है। वो बेड़‍ियां जो हर धर्म, वर्ग में एक जैसी हैं।

Credit: Instagram