कितनी मिलेगी ग्रेच्युटी? इस फॉर्मूले से करें पता

Aug 3, 2022

By: Dimple Alawadhi

कर्मचारियों को मिलते हैं कई लाभ

कंपनियां अपने कर्मचारियों को सैलरी, पेंशन और प्रोविडेंट फंड (PF) का साथ- साथ ग्रेच्युटी का भी लाभ देती हैं।

Credit: iStock

क्या है ग्रेच्युटी? (What Is Gratuity)

ग्रेच्युटी कंपनी की ओर से एक रिवॉर्ड की तरह होती है, जिसका भुगतान नौकरी की कुछ शर्तों को पूरा करने पर किया जाता है।

Credit: iStock

कब मिलती है ग्रेच्युटी?

अगर कोई कर्मचारी एक ही कंपनी में लंबे समय तक काम करता है, तो उसे नौकरी छोड़ने पर ग्रेच्युटी दी जाती है।

Credit: iStock

ये है नियम

अगर कोई कर्मचारी किसी कंपनी में कम से कम 5 साल तक काम करता है, तो वह ग्रेच्युटी का हकदार होता है।

Credit: iStock

कैसे तय होती है ग्रेच्युटी की रकम

कंपनी अपनी मर्जी से कर्मचारियों को कितनी भी ग्रेच्युटी नहीं दे सकती है, बल्कि इसे एक निर्धारित फॉर्मूले के तहत कैलकुलेट किया जाता है।

Credit: iStock

ग्रेच्युटी का फॉर्मूला

ग्रेच्युटी कैलकुलेट करने का फॉर्मूला है- पिछली सैलरी X काम करने की अवधि X 15/26

Credit: iStock

इस बात का रखें ध्यान

इस Gratuity Calculation Formula में पिछली सैलरी का मतलब बेसिक सैलरी, महंगाई भत्ता (DA) और बिक्री पर मिला कमीशन है।

Credit: iStock

उदाहरण से समझें

अगर आपकी पिछली सैलरी 50,000 रुपये है और आपने 6 सालों तक कंपनी में काम किया है, तो आपकी ग्रेच्युटी की रकम 1,73,076 रुपये (50,000 X 6 X 15/26) होगी।

Credit: iStock

जॉब बदलने से पहले रखें ग्रेच्युटी का ध्यान

नौकरी बदलने से पहले ग्रेच्युटी के बारे में जानना जरूरी है। यह कर्मचारियों को मिलने वाला एक अतिरिक्त लाभ होता है।

Credit: iStock

इस स्टोरी को देखने के लिए थॅंक्स

Next: इन 4 तरह से करें आधार से जुड़ी कोई भी शिकायत