Dec 1, 2022

UPI से जानिए कैसे अलग है e-rupee, बिना इंटरनेट करेगा काम

Shivam Pandey

आज लॉन्च होगा रिटेल ई-रूपी

देशभर में एक दिसंबर 2022 से रिटेल डिजिटल मनी यानी ई-रूपी का पायलट आधार पर लॉन्च किया जाएगा। इससे पहले एक नवंबर 2022 को होलसेल सेगमेंट में इसे लॉन्च किया गया था।

Credit: istock

आरबीआई करता है रेगुलेट

ई-रूपी एक तरह की लीगल टेंडर मनी होगा। मतलब आप कागज के नोट की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे आरबीआई रेगुलेट करेगा।

Credit: istock

मोबाइल फोन पर रख सकते हैं

डिजिटल रुपे या ई रूपी को मोबाइल फोन में रख सकते हैं। इसके जरिए व्यक्ति से व्यक्ति और व्यक्ति से मर्चेंट भी लेनदेन कर सकेंगे।

Credit: istock

यूपीआई पेमेंट ऐप से अलग

ई रूपी पेटीएम जैसी यूपीआई पेमेंट ऐप्स से अलग है। दरअस ये पेटीएम सहित अन्य यूपीए ऐप एक तरह से डिजिटल चेक का काम करते हैं।

Credit: istock

अकाउंट में होने चाहिए पैसे

पीटीएम या अन्य यूपीआई ऐप में आप जब यूपीआई पिन डालते हैं तो बैंक वह अमाउंट आपके अकाउंट से डेबिट कर लेता है। इसके लिए आपके अकाउंट में पैसे होने चाहिए

Credit: istock

मोबाइल में रख सकते हैं

ई रूपी को आप मोबाइल में रख सकते हैं। इसके लिए आपको बैंक खाते में किसी भी फिजिकल करेंसी की जरूरत नहीं होगी।

Credit: istock

नहीं होती बैंक अकाउंट की जरूरत

पेटीएम या अन्य यूपीआई ऐप के लिए बैंक अकाउंट की जरूरत होती है। वहीं, ई रूपी के लिए बैंक अकाउंट की जरूरत नहीं होगी।

Credit: istock

बैंक होता है मध्यस्थ

यूपीआई पर आधारित सिस्टम में बैंक एक मध्यस्थ होता है। इस कारण सेटलमेंट की जरूरत होती है। वहीं, ई रूपी में इंटरबैंक सेटलमेंट की जरूरत नहीं होगी।

Credit: istock

बिना इंटरनेट करेगा काम

ई रूपी बिना इंटरनेट के भी काम कर सकता है। इसके जरिए सरकार का मकसद डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना है।

Credit: istock

Thanks For Reading!

Next: instagram: हर क्लिक पर 200 फॉलोअर्स, जानें कैसे