Nov 22, 2022

नींबू के टोटके, शनि की टेढ़ी नजर से दिलाएंगे मुक्ति

आदित्य सिंह

साढ़े साती और ढैय्या से परेशान

यदि आप भी शनि की साढ़े साती और ढैय्या से परेशान हैं, बनता काम बिगड़ जाता है, अनावश्यक खर्चों पर चाह कर भी विराम नहीं लग रहा है तो ऐसे में यहां हम आपके लिए नींबू के कुछ सरल व असरदार टोटके लेकर आए हैं।

Credit: -

नौकरी में आ रही है बाधाएं

यदि आपको व्यापार में लगातार घाटे का सामना करना पड़ रहा है या फिर नौकरी के क्षेत्र में बाधाएं उत्पन्न हो रही है। ऐसे में चार नींबू लें और इसमें 51 लौंग लगाएं और पास के मंदिर के बाहर इसे गाड़ दें। इससे जातक को शनि के प्रकोप से मुक्ति मिलेगी।

Credit: -

आर्थिक तंगी

आय प्राप्ति का मार्ग खोलने के लिए नींबू को सबसे कारगार माना जाता है, इसके चमत्कारिक टोटके आपके लिए काफी लाभकारी सिद्ध हो सकते हैं। इसके लिए एक नींबू लें इसे सात बार अपने ऊपर वार लें और फिर इसे काटकर चौराहे पर फेंक दें।

Credit: -

बुरी नजर का नाश

आपने देखा होगा कुछ दुकानों में हरी मिर्च के साथ नींबू लगा होता है। बता दें जिस प्रकार एक प्याज आसपास की गर्मी सोख लेता है, ठीक उसी प्रकार नींबू बुरी नजर का नाश करता है।

Credit: -

वास्तु दोष करे दूर

वास्तुशास्त्र के अनुसार, जिस घर में नींबू का पेड़ होता है, वहां नकारत्मकता का वास नहीं होता। नींबू नकारत्मक शक्तियों को दूर कर सकरात्मकता का प्रसार करता है।

Credit: -

नींबू और सिंदूर का टोटका

धन प्राप्ति के लिए नींबू और सिंदूर का टोटका सबसे कारगार माना जाता है। इसके लिए एक नींबू काटकर उसमें सिंदूर डालें और इसे लाल कपड़े में बांधकर एक पोटली बना लें, अब इसे अपनी तिजोरी में रख दें।

Credit: -

बीमारी से हैं परेशान..

वहीं यदि आपके घर परिवार का कोई सदस्या लंबे समय से किसी बीमारी से ग्रस्त है तो एक नींबू के बीच में लकड़ी डालकर इसे अपने घर की चौखट पर गाड़ दें, यदि गाड़ना संभव ना हो तो इसे लाल कपड़े में बांधकर टांग दें। जल्द ही आपको असर दिखने लगेगा।

Credit: -

सफलता के लिए करें ये उपाय

कड़ी मेहनत व संघर्ष के बाद भी यदि आपको सफलती नहीं मिल रही है तो मंगलवार के दिन एक नींबू और चार लौंग लें, हनुमान जी के समझ पहुंचकर लौंग नींबू में लगा दें, अब हनुमान चालीसा का पाठ करें। इससे आपको जल्द सफलता मिलेगी।

Credit: -

महत्वपूर्ण जानकारी

यह पाठ्य सामाग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के अनुसार लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता हैय़

Credit: -

Thanks For Reading!

Next: 'बजरंग बाण' का पाठ 'महिलायें' नहीं कर सकतीं ?