Jan 5, 2023

एक हजार रुपए से भी कम में हो जाएगी हल्द्वानी ट्रिप, जरूर घूमें ये जगह

Shivam Pandey

चर्चा में हल्द्वानी

उत्तराखंड का छोटा सा शहर हल्द्वानी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया में सुर्खियों में बना हुआ है। हल्द्वानी स्थित बनभूलपुरा में रेलवे के जमीन पर अतिक्रमण हटाने के मामले में सु्प्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट में स्टे लगा दिया है।

Credit: Facebook

कुमाऊं का प्रवेश द्वार हल्द्वानी

हल्द्वानी को कुमाऊं का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। यहां पर गौला नदी बहती है। साथ ही यहां पर कई धार्मिक मंदिर और पर्यटन स्थल है।

Credit: Facebook

शीतला देवी का मंदिर

कुमाऊं की पहाड़ियों में बसे शीतलादेवी मंदिर में खासकर नवरात्रि और महाशिवरात्रि के वक्त उत्सव होता है। यहां पर शीतला माता को श्रद्धालु नारियल और मिठाई चढ़ाते हैं।

Credit: Facebook

नवरात्रि मे खास उत्सव

कुमाऊं की पहाड़ियों में बसे शीतलादेवी मंदिर में खासकर नवरात्रि और महाशिवरात्रि के वक्त उत्सव होता है। यहां पर शीतला माता को श्रद्धालु नारियल और मिठाई चढ़ाते हैं।

Credit: Facebook

कॉर्बेट फॉल

हल्द्वानी के कालाढूंगी से महज चार किलोमीटर दूर स्थित कॉर्बेट वॉटरफॉल पर्यटकों के लिए बरसों से आकर्षण का केंद्र है। ये वॉटफॉल लगभग 60 फीट की ऊंचाई से गिरता है।

Credit: Facebook

जिम कॉर्बेट संग्रहालय

कॉर्बेट फॉल से महज साढ़े चार किलोमीटर दूर जिम कॉर्बेट संग्रहालय है। यहां पर आप महान शिकारी जिम कॉर्बेट से जुड़ी वस्तुओं, पुस्तकों और तस्वीरों को देख सकते हैं।

Credit: Facebook

घोड़ाखाल गोलज्यू मंदिर

हल्द्वानी से महज 38 किमी दूर भवाली के घोड़ाखाल में गोलज्यू देवता का मंदिर है। यहां पर न्याय के देवता गोलू देवता की मूर्ति स्थापित है।

Credit: Wikipedia

बांधते हैं घंटियां

घोड़ाखाल स्थित गोलू देवता के मंदिर में श्रद्धालु अपनी मन्नत चिट्ठियों के जरिए गोलू देवता को बताते हैं। वहीं, मन्नत पूरी होने पर घंटी चढ़ाते हैं।

Credit: Facebook

श्यामखेत टी गार्डन

मंदिर से कुछ ही दूरी पर श्यामखेत टी गार्डन है। यहां पर आप पहाड़ियों के बीच चाय के बगान अपनी सुंदरता के लिए पर्यटको के बीच काफी लोकप्रिय है।

Credit: Facebook

Thanks For Reading!

Next: पुरुषों की इन आदतों पर पर मिटती हैं महिलाएं