Nov 12, 2022

बाल दिवस: पंडित नेहरू से जुड़े रोचक तथ्य

प्रभाष रावत

आनंद भवन में बड़े हुए

जवाहरलाल नेहरू ने अपने बचपन के दिन बिताए और आनंद भवन में पले-बढ़े। आनंद भवन का पहले का नाम स्वराज भवन था जिसका निर्माण उनके पिता मोतीलाल नेहरू ने वर्ष 1930 में किया था।

Credit: Timesnow Hindi

इंदिरा गांधी ने बनाया संग्रहालय

आनंद भवन को बाद में साल 1970 में इंदिरा गांधी की ओर से एक संग्रहालय और नेहरू तारामंडल में परिवर्तित कर दिया गया था।

Credit: Timesnow Hindi

कांग्रेस का थामे रखा हाथ

कश्मीरी पंडित समुदाय से कहे जाने वाले जवाहरलाल नेहरू के पिता मोतीलाल चाहते थे कि वह अपनी स्वराज पार्टी में शामिल हो जाए और कांग्रेस छोड़ दे। लेकिन जवाहरलाल ने कांग्रेस और गांधी जी के साथ रहना पसंद किया।

Credit: Timesnow Hindi

ग्रेजुएशन की डिग्री

साल 1907 में जवाहरलाल नेहरू ट्रिनिटी कॉलेज, कैम्ब्रिज गए और इसके बाद 1910 में ऑनर्स डिग्री के साथ ग्रेजुएट हुए।

Credit: Timesnow Hindi

'डिस्कवरी ऑफ इंडिया' किताब

भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लेने के लिए अहमदनगर में 1942 से 1946 के कारावास के दौरान उनकी ओर से 'डिस्कवरी ऑफ इंडिया' पुस्तक लिखी गई थी।

Credit: Timesnow Hindi

पहले प्रधानमंत्री बने

पंडित नेहरू ने 15 अगस्त 1947 को प्रधानमंत्री के कार्यालय का कार्यभार संभाला और प्रसिद्ध भाषण 'ट्रिस्ट विद डेस्टिनी' दिया।

Credit: Timesnow Hindi

तीन मूर्ति भवन बना पुस्तकालय

जवाहरलाल नेहरू के 'दिल्ली स्थित आवास तीन मूर्ति भवन' को 'नेहरू स्मारक संग्रहालय और पुस्तकालय' में बदल दिया।

Credit: Timesnow Hindi

जवाहर लाल नेहरू की किताबें

- भारत की खोज- विश्व इतिहास की झलकियां- एक पिता का अपनी बेटी के नाम पत्र

Credit: Timesnow Hindi

Thanks For Reading!

Next: एक्टिंग के लिए छोड़ी वकालत, जानें कितनी पढ़ी-लिखी हैं गुम है किसी के प्यार में की सई