Varanasi: PM मोदी और गलवान में तैनात जवानों के लिए इन महिलाओं ने भेजा ये तोहफा, संसदीय कार्यालय ने की पुष्टि

वाराणसी की महिला कारीगरों ने पीएम मोदी व गलवान घाटी में तैनात जवानों के लिए लकड़ी की राखी से भरा एक पैकेट भेजा है। इस बात की पुष्टि संसदीय कार्यालय ने की है।

PM Modi
पीएम मोदी 

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय कार्यालय को मंगलवार को एक अनोखा गिफ्ट पैकेट मिला। ये गिफ्ट पैकेट वाराणसी के पारंपरिक महिला कारीगरों के द्वारा भेजी गई हैं जो लकड़ी के सामान व खिलौने बनाने का काम करती हैं। आपको बता दें कि इस पैकेट में रंगबिरंगी राखियां हैं जो लकड़ी की हैं। ये राखियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गलवान घाटी में तैनात वीर जवानों के लिए भेजी गई हैं।

आगामी 3 अगस्त को आने वाले रक्षा बंधन के त्यौहार के अवसर पर महिला कारीगरों ने ये राखियां पीएम संसदीय कार्यालय भेजी हैं। इन महिला कारीगरों में शालिनी, वंदना, रीता, पुष्पा और सीता जिनके साथ उनका मास्टर कारीगर रामेश्वर सिंह भी है। इन सभी ने मिलकर पीएम संसदीय कार्यालय के ऑफिस इंचार्ज शिव शरण पाठक को राखी का पैकेट सौंपा।

इसके अलावा उन्होंने पीएम मोदी को एक लेटर भी भेजा जिसमें उन्होंने अनुरोध किया है कि वे सुनिश्चित करें कि गलवान घाटी में उन जवानों तक उनकी भेजी हुई ये राखी पहुंच जाए। शालिनी ने बताया कि पीएम के 'आत्मनिर्भर भारत' के मंत्र से प्रेरित होकर उन्होंने पहली बार नेशनल मेरिट अवॉर्डी रामेश्वर सिंह के गाइडेंस के अंतर्गत लकड़ी की राखी बनाई है।

उसने बताया कि पीएम मोदी से हमारा विनम्र निवेदन है कि जवानों तक राखी पहुंचाई जाए। उन्होंने बताया कि हमें पीएम मोदी से और गलवान घाटी में तैनात होकर हमारी और देश की रक्षा कर रहे वीर जवानों से प्रेम है। उसने आगे बताया कि कोरोना महामारी के दौर में भी वाराणसी में उन्हें करीब 50,000 राखी बनाने का रोजगार प्राप्त हुआ। 
 

अगली खबर