Varanasi: वाराणसी में अब इतनी पंचायतों में बनेगा बारात घर और अंत्येष्टि स्थल, अभी इतने बन रहे

Varanasi panchayat: वाराणसी में अब पंचायत स्तर पर लोगों को मांगलिक एवं अन्य कार्य को करने में परेशानी नहीं होगी। पंचायतों में सरकारी राशि से बारात घर और अंत्येष्टि स्थल बनाए जाएंगे। हालांकि जिले में पहले से कुछ निर्मित हैं, लेकिन अब इनकी संख्या बढ़ाई जा रही है।

Procession house and funeral site will be built in Panchayats
पंचायतों में बनेगा बारात घर और अंत्येष्टि स्थल  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • जिले की 694 पंचायतों में बनेगा बारात घर
  • पहले से 31 और आठ का चल रहा निर्माण कार्य
  • बारात घरों के निर्माण पर 30 लाख रुपए होंगे खर्च

Varanasi: जिले की 694 ग्राम पंचायतों में अब बारात घर का निर्माण करवाया जाएगा। इसके अतिरिक्त अंत्येष्टि स्थल भी बनाए जाएंगे। जिले में पहले से 31 से ज्यादा बरात घर हैं। जबकि आठ का निर्माण करवाया जा रहा है। बारात घर बनाने पर 30 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। वहीं, अंत्येष्टि स्थल को बनने पर 24.36 लाख रुपए खर्च होने हैं।  

ग्राम्य विकास विभाग ने वित्त विभाग को इसका प्रस्ताव बनाकर भेजा है। इस तरह सूबे की सभी 58189 ग्राम पंचायतों में बारात घर बनाने में कुल 17,456 करोड़ रुपए और अंत्येष्टि स्थल बनाने में कुल 14,174 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। 

बारात घर एवं अंत्येष्टि स्थल पहुंचने को बनेगा मार्ग

दरअसल, कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गांवों में बारात घर की जरूरत बताई थी। कहा था कि प्राथमिकता के आधार पर इसका निर्माण होना चाहिए। गांव में बेहतर सुविधा न होने की वजह से लोग शहर की ओर भाग रहे हैं। वहीं, उप मुख्यमंत्री एवं ग्राम्य विकास मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी पंचायतों में बारात घर पर अंत्येष्टि स्थल बनाने के निर्देश दिए हैं। इन बारात घर एवं अंत्येष्टि स्थल तक पहुंचने के लिए मार्ग भी बनाए जाएंगे। 

गंगा, वरुणा और गोमती किनारे बन सकते हैं अंत्येष्टि स्थल

इस बारे में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा का कहना है कि गांवों में बारात घर न होने की वजह से लोग शादी एवं अन्य मांगलिक कार्यक्रम अपने गेस्ट हाउस, शादी लॉन, होटल में जाकर कर रहे हैं। गांव में बारात घर होने से लोगों को सहूलियत होगी। पैसे की बचत होगी। फिलहाल जिले में 31 अंत्येष्टि स्थल हैं। आठ निर्माणाधीन हैं। इनका निर्माण लगभग पूरा हो चुका है। नए अंत्येष्टि स्थल गंगा, वरुणा, गोमती के किनारे बनाए जा सकते हैं। फिलहाल स्थल चयन को लेकर कई विकल्प तलाशे जा रहे हैं। अंतिम निर्णय विभाग के स्तर पर ही लिया जाना है। 

Varanasi News in Hindi (वाराणसी समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर