World Blood Donar Day 2020: क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड ब्लड डोनर डे

World Blood Donation Day 2020: हर साल 14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के द्वारा साल 2005 में इस दिन की शुरुआत की गई थी।

world blood donation day 2020
वर्ल्ड ब्लड डोनेशन डे 2020 (Source: Pixabay) 

मुख्य बातें

  • हर साल 14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है
  • वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने साल 2015 में इस दिन की शुरुआत की थी
  • जो रक्त दान करता है उसे ब्लड डोनर कहा जाता है

हर साल पूरी दुनिया में 14 जून को ब्लड डोनर डे मनाया जाता है। जो रक्त दान करता है उसे ब्लड डोनर कहा जाता है। आज पूरी दुनिया में महामारी फैल रही है आए दिन लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। कोरोना वायरस महामारी के खतरे के कारण दुनियाभर में लोगों की जानें जा रही है। लोग बीमार हो रहे हैं, कई लोगों को खून की जरूरत महसूस हो रही है जिसके लिए लोग ब्लड डोनेट भी करते हैं। 

यही कारण है कि दुनियाभर में ब्लड डोनेट करने के लोगों को मोटिवेट किया जाता है इसके लिए समय-समय पर ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन किया जाता है जहां लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए जागरुक किया जाता है। इसके लिए उन्हें किसी तरह का कोई पैसा भुगतान नहीं करना पड़ता है बदले में सरकार ही उन्हें स्वास्थ्य से जुड़ी सुविधाएं देती है। 

इसके लिए हर देश में ब्लड बैंक बनाया गया है। कई अस्पतालों में भी ब्लड बैंक की सुविधा होती है जहां से मरीजों को जरूरत पड़ने पर खून उपलब्ध कराया जाता है। कम और मद्धम आय वाले देश आज भी सुरक्षित ब्लड स्टोरेज को लेकर संघर्ष कर रहे हैं।

वैसे लोगों का शुक्रिया करें जो खुद से आगे बढ़कर ब्लड डोनेट करते हैं और दूसरों को ऐसा करने के लिए अवेयर करते हैं।
सेफ ब्लड उपलब्ध कराने के लिए लोगों को जागरुक किया जाता है। जब कभी भी किसी मरीज को ब्लड की जरूरत पड़े तो उसे सुरक्षित ब्लड उपलब्ध कराया जाए।

कौन कर सकता है ब्लड डोनेट
वो व्यक्ति जिसकी उम्र 18 साल या उससे ऊपर हो वह अपनी इच्छानुसार ब्लड डोनेट कर सकता है। डोनर को एचआईवी, हेपेटाइटिस बी एंड सी किसी तरह की बीमारी नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा उसके शरीर में आयरन की मात्रा भरपूर होनी चाहिए। हर तीन महीने में व्यक्ति को ब्लड डोनेट करते रहना चाहिए इससे शरीर में आयरन की मात्रा सही बनी रहती है।

14 जून को नोबेल प्राइज विनर और साइंटिस्ट कार्ल लैंडस्टेनर का जन्म हुआ था। उनके ही जन्मदिन के अवसर पर ही वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है। उन्होंने ही अलग-अलग प्रकार के ब्लड ग्रुप के बारे में पता लगाया था और दुनिया को इसके बारे में बताया था। यही कारण है कि आज हर कोई अपने ब्लड ग्रुप से वाकिफ है इसके पीछे का श्रेय कार्ल लैंडस्टेनर को ही जाता है। 
उनके इसी काम के लिए उन्हें 1930 में नोबेल प्राइज का पुरस्कार मिला था।

क्या है इस साल का थीम
वर्ल्ड ब्लड डोनर डे पर इस साल की थीम सेफ ब्लड सेफ लाइव्स है जिसमें नारा दिया गया है कि गिव ब्लड एंड मेक द वर्ल्ड ए हेल्दी प्लेस। 
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर