चाहे घर आए दोस्त या हो रिश्तेदार- मिलने ने साफ इंकार, परिवार ने घर के बाहर लगाया ऐसा पोस्टर

एक परिवार ने अपने घर आए लोगों से नहीं मिलने की अपील करते हुए घर के बाहर एक दिलचस्प पोस्टर लगाया है, जिसकी तस्वीर वायरल हो रही है। इसमें रिश्तेदारों और दोस्तों से बाहर से ही लौट जाने के लिए कहा गया है।

Poster outside the Home
घर के बाहर लगाया ऐसा पोस्टर 

मुख्य बातें

  • परिवार ने अपने घर के बाहर लगाया पोस्टर- रिश्तेदारों और दोस्तों से मुलाकात से किया साफ इंकार
  • लिखा- अगर घर तक आ भी गए हैं तो पोस्टर पढ़कर वापस लौट जाएं
  • तेजी से बढ़ते कोरोना महामारी के संकट के बीच निभाई सच्चे नागरिक की जिम्मेदारी

नई दिल्ली: लॉकडाउन के बीच पूरे देश में लॉकडाउन का दौर जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से किए गए 21 दिन के लॉकडाउन के आह्वान के बाद पूरे देश की ओर से शानदार प्रतिक्रिया देखने को मिली थी। कई लोगों के नियमों का उल्लंघन करते हुए घरों से बाहर निकलने और समूह में इकट्ठा होने की खबरें सामने आईं लेकिन जिस स्तर पर लोग लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं उसके सामने ऐसे मामले कम ही है।

हाल ही में एक मिसाल पेश करने वाली घटना सामने आई है जहां एक शख्स ने अपने घर के बाहर एक पोस्टर लगातर अपनी जिम्मेदारी का पालन करने के साथ लोगों को जागरुक करने का भी काम किया है। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई है।

कई बार हम लॉकडाउन के नियमों के समर्थन में तो होते हैं लेकिन कुछ परिस्थितियों वश इसका सख्ती से पालन करने पर संकोच करते हैं। घर में आए किसी मेहमान को कोरोना लॉकडाउन के बीच मना नहीं कर पाते। ऐसे ही लोगों के लिए एक परिवार ने उदाहरण पेश किया। घर के बाहर लगे पोस्टर में सभी रिश्तेदारों, दोस्तों और अन्य लोगों से घर में नहीं आने की अपील की गई है।

पोस्टर पर लिखा है, 'कोरोना कोविड-19 से संबंधित जानकारी- रिश्तेदार दोस्त यार कृपया हमारे घर मिलने न आएं। अगर आ गए हं तो पढ़कर वापस चले जाएं। खुद भी वायरस से बचें, हमें भी बचाएं। धन्यवाद। जिम्मेदार देशवासी।'

गौरतलब है कि भारत में अब तक कोविड-19 के 1900 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। दुनिया में इसका और भी विकराल रूप देखने को मिल रहा है। यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण के पांच लाख से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है। आधिकारिक सूत्रों की जानकारी के मुताबिक इस महाद्वीप में कोरोना वायरस के 508,271 मामले दर्ज किए गए हैं और 34,571 लोगों की मौत हुई है।

अगली खबर