एक साथ बारात लेकर पहुंचे सात दूल्हे, शादी वाले घर पर लगा था ताला और और परिजनों सहित दुल्हन फरार

मध्य प्रदेश के भोपाल से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां सात दूल्हे एक साथ बारात लेकर पहुंचे तो हैरान रह गए, वहां ना दुल्हन मिली और ना ही उसके परिजन।

The seven grooms arrived at the wedding procession together, nor did the bride meet her father-in-law
एक साथ बारात लेकर पहुंचे सात दूल्हे, ना दुल्हन मिली ना परिजन (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: Shutterstock

मुख्य बातें

  • बारात लेकर एक साथ बारात लेकर पहुंचे सात दूल्हे
  • इसके बाद जो हुआ उससे हर कोई रह गया हैरान
  • शादी वाले घर पर लगा था ताला, सभी पहुंचे पुलिस स्टेशन

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से एक अजीबो- गरीब मामला सामने आया है जहां सात दूल्हे एक साथ पुलिस थाने पहुंच गए। जैसे ही सात दूल्हे एकसाथ पहुंचे तो पुलिस भी हैरान रह गई क्योंकि सभी की शिकायत भी एक जैसी थी। पुलिस को दी शिकायत में दूल्हों ने बताया कि उनकी शादी तय हो गई थी और जब वो बारात लेकर पहुंचे तो  हैरान रह गए क्योंकि दिए गए पते पर ना दुल्हन थी और ना ही दुल्हन के परिजन।

शादी के नाम पर ऐंठे पैसे
पुलिस ने सभी की शिकायत पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने के बाद तहकीकात शुरू कर दी है। पुलिस जांच में पता चला है कि एक संस्था ने इन सभी से शादी कराने के लिए 20 -20 हजार रूपये लिए थे और कहा गया था कि सबकी शादी धूमधाम से की जाएगी। संस्था ने लड़कों की मुलाकात लड़कियों से भी कराई और रजिस्ट्रेशन के नाम पर 20-20 हजार रुपये वसूले। 

ताला लगा मिला घर में

इसी तरह लड़की वालों को भी विश्वास में लिया जाता था और बाद में लड़कियों को कह दिया जाता था कि लड़के ने मना कर दिया है। इसके बाद जब बारात तय समय पर वहां पहुंचती थी तो वहां ताला लगा मिलता था। खबर के मुताबिक भिंड से एक शख्स गाजे-बाजे के साथ जब दुल्हन के घर पहुंचा था वो वहां ताला लगा हुआ मिला और वहां शादी कराने वाली संस्था का कोई दफ्तर भी नहीं था। इसके बाद जब वो शिकायत लेकर थाने पहुंचा तो वहां 6 दूल्हे पहले से ही बैठे थे और उनके साथ भी ऐसा ही हुआ था।

मोबाइल स्विच ऑफ

इस तरह के कई मामले पहले ही यहां आ चुके हैं। पीड़ितों ने बताया कि  उनसे शादी कराने के नाम पर 20 हजार रुपये लिए गए गए थे और जब वो बारात लेकर आए तो वहां कोई नहीं था और जो मोबाइल नंबर दिए गए थे सभी बंद हैं। पुलिस के मुताबिक, इसके पीछे पूरा एक गिरोह है जो गरीब लड़कियों को सपने दिखाता था कि उनकी शादी अच्छे घरों में की जाएगी और इसी तरह से वो लड़कों को भी फंसाते थे जिनकी शादी नहीं हो पा रही है। ये लोग बस्ट स्टैंड या अन्य सार्वजनिक जगहों पर शादी कराने के पर्चे चिपकाते हैं। इसके बाद शुरू होता है ठगी का धंधा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर