5 सितंबर को ही क्‍यों मनाया जाता है Teachers day? इन कोट्स, मैसेज के साथ अपने टीचर को करें Wish

देशभर में आज टीचर्स डे मनाया जा रहा है। बेहतरीन कोट्स, मैसेज के साथ आप भी अपने टीचर को शुभकामनाएं संदेश भेज सकते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि यह खास दिन 5 सितंबर को ही क्‍यों मनाया जाता है?

Teachers day 2021
Teachers day 2021  |  तस्वीर साभार: Representative Image

Teacher’s Day 2021: भारत में हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस (Teacher’s Day) मनाया जाता है। इस दिन स्कूल-कॉलेजों में कई तरह के कार्यक्रम होते हैं। आम तौर पर बड़ी क्लास के बच्‍चे छोटी क्‍लास के बच्‍चों के लिए टीचर्स बनते हैं। इस बार कोरोना संक्रमण के बीच यह खास दिन मनाया जा रहा है। कोविड के मामलों में कमी को देखते हुए कई राज्‍यों में स्‍कूल खोले गए हैं और बच्‍चों ने स्‍कूल जाना भी शुरू कर दिया है, लेकिन टीचर्स डे इस बार रविवार को है, जिस कारण स्‍टूडेंट्स अमूमन घरों में ही रहेंगे। इस दौरान आप अपने टीचर्स को बेहतरीन कोट्स के साथ मैसेज, व्‍हाट्स एप कर सकते हैं।

किसी भी इंसान के जीवन में गुरु यानी उसके टीचर का कितना महत्‍व होता है, इसे कबीर के उस दोहे से समझा जा सकता है, जिसमें उन्‍होंने गुरु और गोविंद को एक ही जगह खड़ा करते हुए छात्र के उस असमंजस को बयां किया है कि आखिर वह किसे पहले प्रणाम करे। दोहे का अंत गुरु की महिमा का बखान करते हुए कुछ इस तरह होता है कि वह गुरु ही हैं, जिन्‍होंने छात्र को गोविंद के बारे बताया। 

गुरु गोविंद दोउ खड़े
कोके लागू पाय 
बलिहारी गुरु आपने
गोविंद दियो बताय।

5 सितंबर को ही क्‍यों मनाया जाता है टीचर्स डे?

साफ है कि भारतीय परंपरा में गुरु का स्‍थान हमेशा से आगे रहा है। जहां तक 5 सितंबर को ही शिक्षक दिवस मनाए जाने की बात है तो भारत में यह खास दिन 1962 से मनाया जा रहा है। यह भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म की तारीख है, जिसे देश में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। डॉ. राधाकृष्‍णन का जन्म 5 सितंबर, 1888 को तमिलनाडु के तिरुमनी गांव में हुआ था। बचपन से ही उन्‍हें किताबें पढ़ने का शौक था। वह स्वामी विवेकानंद के विचारों से खासे प्रभावित थे। बताया जाता है कि भारत के राष्ट्रपति बनने पर उनके कुछ छात्र व मित्र उनसे मिलने पहुंचे और उनसे उनका जन्‍मदिन बनाने की अनुमति मांगी तो उन्‍होंने अलग से इसे मनाने की बजाय 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाए जाने का प्रस्‍ताव रखा, जिसके बाद से ऐसा ही किया जा रहा है।

किताबों से डॉ. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन के लगाव को उनकी इसी बात से समझा जा सकता है, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि किताबें पढ़नें से हमें एकांत में विचार करने की आदत और सच्‍ची खुशी मिलती है। उनकी यह बात ऑनलाइन एजुकेशन, इंटरनेट पर मौजूद अथाह अध्‍ययन सामग्री और सोशल मीडिया के आज के दौर में भी उतनी ही प्रासंगिक है, क्‍योंकि आज भी किसी भी मुद्दे पर गहरा और सटीक ज्ञान किताबों को पढ़कर ही हासिल किया जा सकता है।

अपने टीचर्स को भेजे शुकमाना संदेश

तो इस टीचर्स दिवस पर आप भी अपने शिक्षक को बेहतरीन कोट्स और कुछ खास संदेशों के साथ उन्‍हें शुभकामनाएं भेजें और पाएं अपने टीचर का आशीर्वाद।

गुरुर्ब्रह्मा ग्रुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः ।
गुरुः साक्षात् परं ब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः ॥
Happy Teacher's Day

शिक्षक दिवस की अनंत शुभकामनाएं।
अज्ञान का अंधेरा मिटाने
और ज्ञान की रोशनी से जीवन में उजाला भरने के लिए आभार।

गुरु ब‍िना ज्ञान कहां
उसके ज्ञान का आदि न अंत यहां
गुरु ने दी शिक्षा जहां
उठी शिष्‍टाचार की मूरत वहां
Happy Teacher's Day

अज्ञानता दूर कर ज्ञान की ज्‍योत जलाई है
आपके चरणों में रहकर हमने शिक्षा पाई है
गलत राह पर भटके जब हम
आपने सच्‍ची राह दिखाई है।
हैप्‍पी टीचर्स डे

देते हैं शिक्षा शिक्षक हमारे
नमन चरणों में गुरु तुम्‍हारे
बिना शिक्षा सूना जीवन है
शिक्षित जीवन सदा नवजीवन है
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Viral News in Hindi, साथ ही Hindi News के ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर