ऑन ड्यूटी इंस्पेक्टर के सिर पर चढ़ा बंदर निकालने लगा जुएं, एडिश्नल एसपी ने किया दिलचस्प कमेंट,देखें [Video]

ट्रेंडिंग/वायरल
Updated Oct 09, 2019 | 12:40 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

पीलीभीत के एक थाने में जो नजारा देखने को मिला वो हैरान करने वाला था।थाने के मालिक यानि इंस्पेक्टर साहब के सिर पर एक बंदर चढ़ गया और जुएं निकालने लगा। इंस्पेक्टर साहब अपने काम में और बंदर अपने काम में तल्लीन था।

srikant diwedi
पीलीभीत में इंस्पेक्टर के सिर पर चढ़ा बंदर और निकालने लगे जुए 

लखनऊ: पुलिस स्टेशन में लोग अपनी फरियाद के लिए जाते हैं। आमतौर पर लोगों को वर्दी वालों से डर ही लगता है। सड़क पर अपनी शक्ति का बेलौस प्रदर्शन करने वालों की थाने में घिग्घी बंध जाती है। लेकिन वो तो बेजुबान था उसे किस बात की परवाह थी कि वो पुलिस वाला शख्स सामान्य सिपाही है या दो या तीन स्टार वाला दारोगा। पीलीभीत के एक थाने में दारोगा जी फाइलों को निपटानें में व्यस्त थे तो एक बेजुबान बंदर इंडियन पीनल कोड की धाराओं की परवाह किए बगैर इंस्पेक्टर साहब के सिर पर चढ़ गया। वैसे तो कोई शख्स इस तरह की हरकत का हिमाकत नहीं कर सकता है। दरअसल उसके पीछे वजह भी है, वर्दी वाला कानूनी और गैरकानूनी तरीके से आपको परेशान कर सकता है। लेकिन आप वर्दी के साथ इस तरह का काम नहीं कर सकते जो बंदर कर रहा था। 

इंस्पेक्टर श्रीकांत द्विवेदी के सर पर वो बंदर सवार हो गया। लेकिन वो उनकी वर्दी की साथ के यानि कानून के साथ खिलवाड़ नहीं कर रहा था। वो तो इंस्पेक्टर साहब के बालों से जुएं निकाल रहा था। बड़ी तल्लीनता से वो बंदर अपने काम में लगा रहा। उसे न तो किसी बात की परवाह थी और न ही किसी पुलिसवाले से, आखिर ऐसा हो भी क्यों नहीं जब बड़े साहब यानि इंस्पेक्टर साहब को ही परेशानी नहीं थी तो वो मातहतों को क्या पड़ी हो। लेकिन इस मनोरम दृश्य पर एडिश्नल एसपी राहुल श्रीवास्तव अपने आपको रोक न सके। 

एडिश्वनल एसपी के पद पर तैनात राहुल श्रीवास्तव दिलचस्प अंदाज में कहते हैं कि पीलीभीत के इन इन्स्पेक्टर साहब का अनुभव ये बताता है कि यदि आप काम करने में व्यवधान नहीं चाहते हैं तो रीठा,शिकाकाई या अच्छा शैम्पू इस्तेमाल करें ! 

सोशल मीडिया पर कमेंट की भरमार

 

  1. कुछ भी हो इंस्पेक्टर साहब इतना देर झेल लिए बजरंगबली को। वैसे इससे झलकता है कि इंस्पेक्टर साहब जनता की समस्याओं को गंभीरता से लेते हैं।
  2. सकारात्मक पक्ष भी देखिये सर ! सर पर मुसीबत होने पर भी काम में तल्लीन  हैं ! वरना आजकल तो नेताओं, बाबाओं की मसाज वाले वीडियो ज़्यादा आ रहे हैं !
  3. एक यूजर ने कुछ इस तरह अपने विचार को रखा- मेरा व्यक्तिगत अनुभव यह बताता है कि श्री कान्त नाम के जो भी पुलिस इंस्पेक्टर हैं चाहे वे द्विवेदी जी हों या राय साहब। बेहद ही बेहतरीन व्यक्तित्व, कर्मठ, ईमानदार और संवेदनशील होते हैं।
  4. दरोगा जी के बाल में जुएँ???!
  5. इससे सुंदर तस्वीर नहीं हो सकता एक इंसान और जानवर की दोस्ती

बजरंगबली या यूं कहे कि उस बंदर से इंस्पेक्टर साहब कहते रहे कि भाई अब तो उतरो। लेकिन वो बंदर अपने काम में इतना तल्लीन था कि वो उतरने का नाम नहीं ले रहा था। इन सबके बीच किसी ने कहा कि बंदर को केले की मदद से उतारा जा सकता है। बंदर तो बेजुबान था लेकिन पुलिस महकमा परेशान था कि आखिर ये सब क्या हो रहा है। इंस्पेक्टर साहब उस बंदर से फरियाद पर फरियाद करते रहे कि साहब अब अपनी सेवा को विराम दो। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर