गुजरात: डीजीपी ने जारी किया सर्कुलर, पुलिसकर्मी ने पीएम नरेंद्र मोदी की नकल कर बनाया टिक- टॉक वीडियो

ट्रेंडिंग/वायरल
Updated Jul 31, 2019 | 21:12 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

गुजरात पुलिस में कार्ययत एक पुलिसकर्मी ने पीएम नरेंद्र मोदी की नकल करते हुए टिक- टॉक वीडियो बनाया है। इससे पहले राज्य के डीजीपी ने सर्कुलर जारी करते हुए सभी पुलिसकर्मियों को इस तरह के वीडियो से बचने को कहा था।

Tik Tok Viral Video
पुलिसकर्मी ने पीएम नरेंद्र मोदी की नकल कर बनाया टिक- टॉक वीडियो  |  तस्वीर साभार: Facebook
मुख्य बातें
  • पीएम नरेंद्र मोदी की नकल कर रहा था पुलिसकर्मी
  • गुजरात के डीजीपी ने सर्कुलर जारी कर सभी पुलिसकर्मियों को टिक- टॉक वीडियो बनाने से किया था मना
  • तीन पुलिसकर्मियों को किया गया था निलंबित

गांधीनगर: सोशल मीडिया के जमाने लोग इसका काफी लुफ्त उठा रहे हैं। वहीं बीते कुछ समय में सोशल मीडिया एप टिक- टॉक काफी तेजी से उभरा है। टिक- टॉक को लेकर लोगों दीवानगी भी किसी से छुपी नहीं है। इसका नशा लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। टिक-टॉक को यूज करने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस बीच टिक- टॉक को लेकर कई तरह के मामले भी सामने आए हैं। 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक पुलिसकर्मी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नक्ल करते दिख रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक नकल करने वाला शख्स गुजरात पुलिस में कार्ययत है। वीडियो में पांच पुलिसकर्मी शामिल हैं, जिसमें से एक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकल करते दिख रहा है, जबकि अन्य चार उसको देख रहे हैं।

पीएम के बयान की उतारी नकल
 पुलिसकर्मी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकल करते हुए कह रहा है,'भाईयों और बहनों, ज्यादा से ज्यादा ये मेरा क्या कर लेंगे भाई, नहीं नहीं बताईए, क्या क्या कर लेंगे? अरे हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेके चल पड़ेंगे जी।' रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिसकर्मियों की पहचान नहीं हो पाई है कि उनका क्या नाम है?

 

 

बता दें कि ये टिक- टॉक वीडियो तब सामने आया है जब मंगलवार को गुजरात पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) शिवानंद झा ने एक सर्कुलर जारी करते हुए कहा था कि राज्य के सभी पुलिसकर्मी और अधिकारी सोशल मीडिया एप टिक- टॉक पर किसी भी तरह का वीडियो बनाकर अपलोड न करें। उन्होंने इसके लिए सभी पुलिसकर्मियों को गुजरात सिविल सेवा (आचरण) नियम (1971) और गुजरात पुलिस अधिनियम (1951) के अनुसार सोशल मीडिया का उपयोग करने की हिदायत दी।

क्या था सर्कुलर?
डीजीपी शिवानंद झा ने कहा था कि पुलिसकर्मियों और अधिकारी सोशल मीडिया पर किसी भी तरह का वीडियो अपलोड करने से बचें। उन्होंने राज्य पुलिसकर्मियों को अगाह करते हुए कहा था कि ऐसा कोई अनुचित वीडियो ड्यूटी पर होने और न होने के दौरान अपलोड मत करें जिससे विभाग की सार्वजनिक आलोचना हो। पुलिस महानिदेशक ने ये सर्कुलर उन पुलिसकर्मियों पर भी लागू होने की बात कही थी जो नौकरी से निलंबित हैं।


कई पुलिसकर्मियों पर हो चुकी है कार्रवाई
बता दें कि बीते दिनों विभिन्न पुलिस थानों में तैनात तीन पुलिस कान्स्टेबलों को निलंबित कर दिया गया था। इसमें एक महिला पुलिसकर्मी भी शामिल थी। निलंबित पुलिसकर्मियों ने अपना वीडियो बनाकर टिक- टॉक पर अपलोड किया था।

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर