कोरोना संकट के दौरान गंवाई नौकरी, 31 करोड़ रुपये की लॉटरी से बदली किस्‍मत

Coronavirus Jobs Lost: कोरोना संकट के दौरान दुनियाभर में लाखों लोगों ने रोजगार गंवाए हैं। हालांकि ऐसे ही एक शख्‍स की खुशी का उस वक्‍त ठिकाना न रहा, जब लॉटरी ने उसकी किस्‍मत बदल दी।

कोरोना संकट के दौरान गंवाई नौकरी, 31 करोड़ रुपये की लॉटरी से बदली किस्‍मत
कोरोना संकट के दौरान गंवाई नौकरी, 31 करोड़ रुपये की लॉटरी से बदली किस्‍मत  |  तस्वीर साभार: Facebook

मुख्य बातें

  • कोरोना संकट के दौरान लाखों लोगों के सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया है
  • इस बीच दुनियाभर में बड़ी संख्‍या में लोगों ने अपनी नौकरियां गंवाई हैं
  • हालांकि ऐसे ही एक शख्‍स की किस्‍मत लॉटरी में मिली राशि से बदल गई

पर्थ : कोरोना वायरस संकट के कारण दुनियाभर में बड़ी संख्‍या में लोग बेरोजगार हुए हैं। उनके सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया है। लेकिन इस मुश्किल के बीच उस वक्‍त एक शख्‍स की खुशी का ठिकाना नहीं रहा, जिसने लगभग 31 करोड़ मूल्‍य की लॉटरी जीत ली। कोरोना संकट के बीच इस शख्‍स की भी नौकरी चली गई थी और ऐसे में परिवार चलाने के लिए उसे भी तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था।

लॉटरी ने ऐसे बदल दी किस्‍मत

यह वाकया ऑस्‍ट्रेलिया के पर्थ का है, जहां एक शख्‍स ने पिछले दिनों अपनी नौकरी गंवा दी थी। उनकी एक तीन साल की बेटी भी है और नौकरी गंवाने के बाद जाहिर तौर पर वह परिवार का खर्च पुरानी कुछ बचत से चला रहे थे और नए रोजगार की तलाश भी कर रहे थे। लेकिन इसी बीच लॉटरी उनके जीवन में बड़ी खुशी बनकर आई। उस दिन वह अपनी बेटी के लिए कुछ सामान खरीदने गए थे, जब उन्‍होंने लॉटरीवेस्‍ट का साइन देखा और अपनी किस्‍मत आजमाने की सोची।

'कभी नहीं सोचा था विजेता बनूंगा'

इस शख्‍स को बिल्‍कुल भी उम्‍मीद नहीं थी कि वह विजेता बनकर सामने आएंगे। इसलिए जब लॉटरी का ऐलान हुआ तो वह हैरान रह गए। एजेंट ने जब बताया कि अब तक विजेता सामने नहीं आया है तो उन्‍होंने अपना टिकट गौर से देखा। खुद को विजेता जानकर उनकी खुशी का ठिकाना न रहा। इस लॉटरी में उन्‍होंने 58 लाख ऑस्‍ट्रेलियाई डॉलर की राशि जीती, जिसका मूल्‍य भारतीय मुद्रा में लगभग 31 करोड़ रुपये है।

लॉटरीवेस्‍ट के अधिकारियों से उस श्‍ख्स ने कहा, 'मैं घर जाकर अपनी बेटी को गले लगा लेना चाहता हूं। मैं हमेशा से कहता था कि जीवन किसी सपने की तरह हो सकता है और यह कुछ ऐसा ही है। मैं अक्‍सर विजेताओं के बारे में पढ़ता था, लेकिन कभी सोचा नहीं था कि एक दिन मेरा भी नाम उनमें हो सकता है।'

कुछ ऐसी है योजना

अब वह इसकी योजना बना रहे हैं कि इस पैसे का इस्तेमाल कैसे करें। वह जहां अपने भाई की घर लेने में मदद करना चाहते हैं। साथ ही अपनी मां के लिए एक कार और बच्‍चों को बेहतर परवरिश देने की इच्‍छा भी है। वह अपने कॉमर्स की डिग्री को पूरा करना चाहते हैं और यह सीखना भी चाहते हैं कि आखिर लॉटरी में मिली इस बड़ी राशि का वह कैसे समुचित तरीके से इस्‍तेमाल करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर