इंसानों जैसा व्यवहार करते हैं ये खास अफ्रीकी तोते, करना चाहते हैं दूसरों की मदद

एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि अफ्रीकी प्रजाति के ग्रे तोते कई मामलों में इंसानों जैसा व्यवहार करते हैं। शोध के दौरान किए गए कई परीक्षण के बाद यह परिणाम सामने आया है।

Parrot
प्रतीकात्मक तस्वीर  |  तस्वीर साभार: Representative Image

नई दिल्ली: शोध में पाया गया है कि इंसानों के अलावा, कुछ पक्षी- खास तौर पर अफ्रीकी ग्रे तोते में समान प्रवृत्तियां होती हैं। गुरुवार को करंट बायोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है, इंसान और कुछ प्रजाति के बंदर दूसरों की मदद करने की इच्छा रखते हैं, भले ही मदद करने वाला कोई अजनबी हो। कुछ विशिष्ट परिवार के पक्षी एक समान तरीके से मदद के अपने पंख फैलाते हैं।

मैक्सिकन प्लांक इंस्टीट्यूट फॉर ऑर्निथॉलॉजी, जर्मनी के सह-लेखक देसरी ब्रूक्स का कहना है, 'हमने पाया कि अफ्रीकी ग्रे तोते स्वेच्छा से बिना अपने फायदे के बारे में सोचे परिचित तोते को लक्ष्य हासिल करने में मदद करते हैं।' इस तथ्य को पक्का करने के लिए, शोधकर्ताओं ने कई अफ्रीकी ग्रे तोते और नीले सिर वाले मकोव की सूची बनाई है।

तोता परिवार की दोनों प्रजातियां अखरोट का आदान-प्रदान करने को तैयार थीं। हालांकि, केवल ग्रे तोते अपने अखरोट को पड़ोसी तोते को देना चाहते थे, जिससे उन्हें भी अखरोट के स्वाद का स्वाद मिल सके। अफ्रीकी ग्रे प्रजाति के तोते कौए और तोते का मिला जुला रूप होता है, जिन्हें कई बार पंख वाले बंदर भी कहा जाता है।

दिलचस्प बात यह है कि ग्रे तोतों को यह भी पता होता है कि कब दूसरे तोते को मदद की जरूरत है और कब जरूरत नहीं है। अगर साथी के पास पहले से ही कोई चीज मौजूद है तो वह अपने पास मौजूद चीज को उन्हें नहीं देते हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि तोते की मदद करने वाले व्यवहार की जांच करने के लिए आगे और अध्ययन करने की जरूरत है। उदाहरण के लिए, मदद की जरूरत होने पर अपने साथी को तोते कैसे बताते हैं? और, क्या वह एक दूसरे से सवाल जवाब भी करते हैं?

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर