कुत्ते और ऑटो ड्राइवर का अनूठा साथ, वायरल हो रहा है ये फेसबुक पोस्ट

पुणे में एक ऑटो ड्राइवर और उसके एक कुत्ते का साथ लोगों की ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहा है, वजह है इस कुत्ते को कोई नहीं था मगर अब वो हमेशा इस ऑटो ड्राइवर के साथ चलता है।

A heartwarming story of auto driver and his pet in Pune see this Viral post
प्रतीकात्मक फोटो 

वफादारी की बात हो कुत्ते का जिक्र ना आए ऐसा हो नहीं सकता, कुत्ते को काफी वफादार माना जाता है और आदमी और कुत्ते का साथ काफी पुराना है। पुणे में ऐसा ही एक मामला सामने आय़ा है जहां एक कुत्ता जिसका कोई नहीं था जिसपर एक ऑटो ड्राइवर की निहाग पड़ी उसके बाद से वो कुत्ता उसका ऐसा जिगरी बन गया जो अब हमेशा ऑटो पर ही रहता है और ऑटो चालक उसका बहुत ज्यादा ध्यान रखता है। ऑटो में बैठने वाली सवारियां का भी ध्यान उनका ये साथ अपनी और खींचता है।

वहीं पुणे के एक लेखिका ने इस दयालु ऑटो चालक के साथ अपनी मुलाकात की एक सुंदर कहानी साझा की और कहा कि वह "Santa in real life" से मिलीं।

फेसबुक पर अपने पोस्ट में, मंजरी प्रभु ने कहा कि वह ऑटो में चलने के बाद ड्राइवर के बगल में बैठे एक पिल्ले को देखने के बाद पूरी तरह से आश्चर्यचकित थी। उसने ड्राइवर, हरविंदर सिंह से पिल्ले के बारे में पूछा और कहानी के बारे में बताने के बाद वह बहुत खुश हुई।

इस कुत्ते की आखिर कहानी क्या है

अपनी बहन लीना के साथ, मंजरी ने इस सप्ताह की शुरुआत में एक ऑटो की सवारी की। जब वह अपने गंतव्य पर पहुंची और अपना किराया देने वाली थी, तो उसने एक पिल्ला देखा 'ड्राइवर की सीट के पास से उत्सुकता से मुझे देख रहा था।' उसने हरविंदर सिंह से पिल्ले के बारे में पूछा और उसने कहा कि जब वह ड्यूटी पर था तो उसका बेटा उसे घर ले आया है  तब उसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं था। इसलिए, हरविंदर ने अपने ऑटो में अपने साथ पिल्ला ले जाने का फैसला किया। मंजरी ने अपनी पोस्ट में, हरविंदर सिंह की एक तस्वीर साझा की और कहा कि 'तस्वीर मुझे याद दिलाने के लिए अधिक थी कि दुनिया में हमेशा कुछ अच्छी आत्माएं हैं जो विभिन्न प्राणियों के लिए अलग-अलग तरीकों से वास्तविक संत हैं।'

कुत्ते के इस पिल्ले का नाम रॉनी है लेखिका ने लिखा कि 'अब रॉनी उसका ट्रेवलिंग दोस्त था और उसका खाना और पानी भी ऑटो में अच्छी तरह से जमा हुआ था। एक ऐसी दुनिया में, जहाँ लोग घर पर बच्चों को अकेले रखने की जहमत नहीं उठाते थे, मुझे हरविंदर बहुत ही संवेदनशील और केयरिंग और मिले।'

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर