TikTok पर रोक के बाद YouTube भी अब शॉर्ट वीडियो के मैदान में

टिकटॉक (TikTok) पर रोक के बाद देश में शॉर्ट वीडियो (short video) के बाजार में खाली स्थान पैदा हो गया था। उस स्थान को भरने की रेस में यूट्यूब (YouTube) भी उतरने जा रही है।

YouTube is also in the field of short video after the ban on TikTok
यूट्यूब 

नई दिल्ली : भारत के शॉर्ट वीडियो (short video) बाजार में प्रतिस्पर्धा बढ़ रही है। टिकटॉक (TikTok) पर रोक के बाद देश में शॉर्ट वीडियो के बाजार में जो रिक्त स्थान पैदा हुआ था, उसे भरने के लिए कई कंपनियां मैदान में उतर रही हैं। अब यूट्यूब (YouTube) भी इस खंड में उतरने जा रही है। गूगल के स्वामित्व वाली कंपनी यूट्यूब शॉर्ट वीडियो के लिए नई पेशकश शॉर्ट्स लाने जा रही है।

एक ब्लॉगपोस्ट में यूट्यूब ने कहा कि वह एक नया छोटी अवधि का वीडियो अनुभव शॉर्ट्स तैयार कर रही है। इसके जरिये 15 सेकंड या कम समय का शॉर्ट वीडियो साझा किया जा सकेगा। इससे अपने मोबाइल फोन के जरिये छोटी अवधि का रोचक वीडियो बनाने के इच्छुक लोगों को लाभ होगा।

पोस्ट में कहा गया है कि अगले कुछ दिन के दौरान हम शॉर्ट्स का शुरुआती बीटा संस्करण पेश कर रहे हैं। इसके परीक्षण के लिए वीडियो बनाने के कुछ टूल्स भी उपलब्ध कराए जाएंगे। यूट्यूब ने कहा कि यह इस उत्पाद का शुरुआती संस्करण है। इसे हमारे सामुदायिक प्रयोगकर्ताओं, वीडियो बनाने वाले लोगों और कलाकारों के लिए पेश किया जा रहा है। हम शॉर्ट्स में सुधार करते रहेंगे।

पोस्ट में कहा गया है कि प्रयोगकर्ताओं से मिली प्रतिक्रिया के आधार पर इसमें और फीचर जोड़े जाएंगे तथा इसका अन्य देशों में विस्तार किया जाएगा।
भारत सरकार ने 29 जून को चीन से जुड़ी 59 ऐप पर रोक लगा दी थी। इनमें लोकप्रिय शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिकटॉक भी शामिल है।

उसके बाद से देश में विकसित कई ऐप मसलन रोपोसो, चिंगारी, जोश (डेलीहंट) और मोज (शेयरचैट) पेश की गई हैं। फेसबुक के इंस्टाग्राम ने भी इस तरह के प्लेटफॉर्म की बढ़ती मांग का लाभ उठाने के लिए अपने ऐप में ही रील्स की पेशकश की है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर