अब टेलीकॉम कंपनियां बंद कर सकती हैं फ्री मिलने वाली ये सेवा, TRAI ने बदला नियम

TRAI SMS Rules: भारतीय दूरसंचार नियामक (ट्राई) के एक नियम में बदलाव करने के बाद अब रोजाना 100 एसएमएस फ्री देने की सुविधा बंद की जा सकती है।

TRAI removed the rule of giving 100 SMS free
ट्राई ने 100 एसएमएस फ्री देने का नियम हटाया  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • टेलीकॉम कंपनियों के प्रतिदिन 100 फ्री SMS देने के नियम में बदलाव
  • कमर्शियल यूजर्स को देखते हुए TRAI ने पुराने नियम में किया बदलाव
  • 100 मैसेज की सीमा के बाद प्रति SMS लगता था 50 पैसे शुल्क

नई दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने अपने नियमों में से एक विशिष्ट खंड हटा दिया है जिसमें दूरसंचार ऑपरेटरों को प्रति दिन एक कनेक्शन पर 100 संदेश भेजने और उस संख्या से अधिक संदेशों के लिए 50 पैसे प्रति एसएमएस चार्ज करने के लिए कहा गया था। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण ने दूरसंचार शुल्क (65वां संशोधन) आदेश जारी करते हुए एक बयान में कहा, 'यह कदम टैरिफ नियमन और टैरिफ के प्रतिगमन की व्यवस्था को मजबूत करने के लिए लिया गया है।'

यह दूरसंचार ऑपरेटरों को गैर-वाणिज्यिक यूजर्स द्वारा बल्क एसएमएस भेजने के लिए शुल्क तय करने का अधिकार दे सकता है। इससे पहले, रिलायंस जियो, वोडाफोन आइडिया, और भारती एयरटेल जैसे टेलीकॉम ऑपरेटर्स यूजर्स को प्रतिदिन 100 एसएमएस का लाभ देते थे और अगर यूजर्स इस दैनिक कोटा को समाप्त कर देते थे, तो कंपनियां उन पर प्रत्येक एसएमएस के लिए 50 पैसे का शुल्क लगाती थीं।

नियम के तहत तय की गई थी दर: नवंबर 2012 के टैरिफ आदेश में मैसेज के खतरे को रोकने के लिए न्यूनतम 50 पैसे की दर तय की गई थी। फिर से, 2018 में, टेलीकॉम नियामक द्वारा पेसकी कॉल से निपटने के लिए एक नया मजबूत प्रौद्योगिकी-संचालित ढांचा निर्धारित किया गया।

कमर्शियल यूजर्स को ध्यान में रखते हुए उठाया कदम: ट्राई ने कहा, इस नियम में एसएमएस के वास्तविक गैर-वाणिज्यिक थोक यूजर के हितों को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करने की क्षमता है और अब इसकी जरूरत नहीं है इसलिए इसे हटा दिया गया है।'

इस बीच, दूरसंचार नियामक ने हाल ही में स्पष्ट किया है कि भारत में मोबाइल लाइन सेवाएं 10 अंक के नंबर के साथ जारी रहेगीं। इससे पहले कयास लगाए गए थे कि मोबाइल नंबर में अब 10 की जगह 11 अंक देखने को मिल सकते हैं।

अगली खबर