मैसेंजर पर हुई आपकी बातचीत सुनने के लिए कॉन्ट्रैक्टर्स को पैसे दे रही फेसबुक

टेक एंड गैजेट्स
Updated Aug 14, 2019 | 20:12 IST | IANS

फेसबुक थर्ड पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स को मैसेंजर पर हुई यूजर्स की बातचीत सुनने के लिए पैसे दे रही है। इससे पहले ऐसा ही एक मामले गूगल और अमेजन से स्मार्ट स्पीकर से जुड़ा हुआ भी सामने आ चुका है।

facebook messenger
फेसबुक मैसेंजर पर यूजर्स की बातचीत सुनने के लिए कॉन्ट्रैक्टर्स को पैसे दे रही फेसबुक 

सैन फ्रांसिस्को: गूगल, एप्पल और अमेजन के बाद अब फेसबुक नवीनतम टेक दिग्गज है, जो अपने मैसेंजर एप पर की गई आपकी बातचीत को सुनने और उसका अनुलेखन करने के लिए थर्ड-पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स को भुगतान कर रही थी। फेसबुक के एक प्रवक्ता ने सीएनईटी को मंगलवार देर रात बताया, 'एप्पल और गूगल की तरह ही हमने ऑडियो के मनुष्य द्वारा समीक्षा को एक हफ्ते पहले ही रोक दिया है।'

इससे पहले, ब्लूमबर्ग ने रिपोर्ट में बताया फेसबुक के ऐसे कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी गई थी। कॉन्ट्रैक्टर्स को हालांकि जानकारी नहीं होती है कि उन ऑडियो को कहा रिकार्ड किया गया और उसे किस प्रकार प्राप्त किया गया। साल 2015 से ही फेसबुक मैसेंजर ने वीडियो क्लिप्स को टेक्टस में अनुलेखन करने के फीचर की पेशकश कर रही थी, हालांकि बाईडिफाल्ट यह बंद होता है।

रिपोर्ट में कहा गया, 'फेसबुक ने कहा कि प्रभावित यूजस ने अपने मैसेंजर सेटिंग्स में अपने वॉयस चैट के अनुलेखन को मंजूरी देने का विकल्प चुना था।' एप्पल, गूगल और अमेजन ने हाल में ही यूजर के ऑडियो रिकार्डिग्स की मनुष्य द्वारा की जानेवाली समीक्षा को रोक दिया है, जब ऐसी रिपोर्टें सामने आई कि ये कंपनियां यूजर्स की वॉयस रिकार्डिग्स थर्ड पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स को सुना रही है। विवादों का सामना करने के बाद गूगल और एप्पल दोनों ने ही यूजर्स की बातचीत की जासूसी बंद कर दी। 

अगली खबर
मैसेंजर पर हुई आपकी बातचीत सुनने के लिए कॉन्ट्रैक्टर्स को पैसे दे रही फेसबुक Description: फेसबुक थर्ड पार्टी कॉन्ट्रैक्टर्स को मैसेंजर पर हुई यूजर्स की बातचीत सुनने के लिए पैसे दे रही है। इससे पहले ऐसा ही एक मामले गूगल और अमेजन से स्मार्ट स्पीकर से जुड़ा हुआ भी सामने आ चुका है।
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...