दिल्ली चुनाव में सोशल मीडिया पर हुआ धुआंधार प्रचार, सबसे ज्यादा इस पार्टी ने किया खर्च

Delhi Election 2020: दिल्ली चुनाव में सोशल मीडिया पर जमकर खर्च किया गया है। पार्टियों ने डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हुए धुआंधार खर्च किया है।

Delhi Election 2020
Delhi Election 2020: दिल्ली चुनाव में इस पार्टी ने किसा सबसे ज्यादा खर्च  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: दिल्ली चुनाव का प्रचार प्रसार थम गया है, 8 फरवरी को मतदान होने हैं। इस बार के चुनाव में आम आदमी पार्टी, भाजपा और कांग्रेस ने सड़कों पर ही नहीं सोशल मीडिया पर भी जमकर प्रचार किया है। इस प्रचार में पार्टियों द्वारा धुआंधार खर्च भी हुए हैं। हालांकि पार्टियों ने सोशल मीडिया पर प्रचार में कितने रुपये खर्च किए हैं, इसका कोई आधिकारिक आंकड़ा नहीं है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोशल मीडिया पर खर्च करने के मामले में आम आदमी पार्टी सबसे आगे है। 'आप' के बाद कांग्रेस ने सबसे ज्यादा पैसे खर्च किए हैं, जबकि भाजपा तीनों पार्टियों में सोशल मीडिया पर सबसे कम खर्च करने वाली पार्टी रही है। हालांकि पहुंच की बात की जाए, जो भाजपा ने इस मामले में बाजी मार ली है। सबसे कम खर्च के बाद भी भाजपा की पहुंच सबसे ज्यादा यूजर्स तक रही है। 

किसने कितना किया खर्च

फेसबुक एड लाइब्रेरी के मुताबिक 28 जनवरी से 4 फरवरी तक हुए प्रचार में आम आदमी पार्टी ने 27,49,805 रुपये खर्च किए हैं। जबकि इंडियन नेशनल कांग्रेस ने इस दौरान 20,78,415 रुपये खर्च किए हैं। वहीं भाजपा ने इस प्रचार में सबसे कम खर्च किया है। भाजपा ने 10,09,053 रुपये खर्च किए हैं। अगर लोकप्रियता की बात की जाए तो आम आदमी पार्टी के पेज को 4,273,410 यूजर्स फॉलो करते हैं। 

जबकि इन्हें 4,024,339 यूजर्स ने लाइक किया है। आम आदमी पार्टी का यह पेज 21 अक्टूबर 2012 को बना। वहीं भाजपा दिल्ली के पेज BJP4Delhi को 29,76,351 यूजर्स फॉलो करते हैं जबकि इसे 29,32,642 लाइक मिले हैं। भाजपा का ये पेज 17 जुलाई 2011 को बना। कांग्रेस दिल्ली को 5,35,390 यूजर्स फॉलो करते हैं, जबिक इसे 5,30,657 लाइक मिले हैं। 

भाजपा के वीडियो को एक लाख बार देखा गया

आम आदमी पार्टी #lagerahokejriwal हैशटैग के साथ प्रचार कर रही है। पार्टी का सीसीटीवी के जुड़ा दिल्ली की हर गली होगी सुरक्षित वीडियो 15 हजार से 20 हजार लोगों तक पहुंच बना सका है। जबकि भाजपा देश बदला दिल्ली बदलो की थीम पर प्रचार कर रही है। केजरीवाल के झूठे वादों का आरोप लगाने वाले एक वीडियो को एक लाख बार देख जा चुका है। जबकि दिल्ली कांग्रेस का संकल्प से जुड़ा प्रचार वीडियो मात्र एक हजार लोगों तक ही पहुंच बना पाया है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर