iPhone का सबसे ज्यादा क्रेज, फिर भी Apple नंबर वन नहीं, जानें कंपनी की Shocking बातें

टेक एंड गैजेट्स
प्रशांत श्रीवास्तव
Updated Sep 15, 2021 | 10:36 IST

Apple iPhone 13 Launch:गार्टनर की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन Samsung बेचती है। इसके बाद दूसरे स्थान पर Apple का नंबर आता है।

iPhone 13 launch event
iPhone 13 लांच इवेंट 

मुख्य बातें

  • Apple ने साल 2020 में 274 अरब डॉलर की कमाई की है। इसमें आधी कमाई iPhone से हुई है।
  • पिछले 5 साल में चीन में Apple की बिक्री 50 फीसदी गिरी है।
  • ब्राजील, मैक्सिको, भारत जैसी तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था में ऊंची कीमतों की वजह से एप्पल ज्यादा सेंध नहीं लगा पाया है

नई दिल्ली: दुनिया के सबसे ज्यादा प्रभावशाली और  क्रेज वाली कंपनी एप्पल ने अपने प्रतीक्षित iphone 13 सीरिज को लांच कर दिया है। इसके तहत कंपनी ने iPhone 13 Mini, iPhone 13 pro, iPhone 13 Promax स्मार्टफोन लांच किए हैं। इसके अलावा कंपनी ने एंट्री लेवल आईपैड, आईपैड मिनी, एपल वॉच सीरीज 7 भी लांच किए  हैं।  भारत में आईफोन 13 मिनी और आईफोन 13 की बिक्री 24 सितंबर से शुरू होगी। वहीं, आईफोन 13 प्रो की बिक्री 30 अक्टूबर से और आईफोन 13 प्रो मैक्स की बिक्री 13 नवंबर से शुरू होगी। जो कि एप्पल स्टोर, फ्लिपकार्ट, अमेजन से खरीदे जा सकते हैं। करीब 2 लाख करोड़ डॉलर की वैल्यू वाली एप्पल के iPhone का ऐसा क्रेज है कि दुनिया भर में लोग इसके नए मॉडल की लांचिंग का बेसब्री से इंतजार करते हैं। आधी रात को लाइन में खड़े होकर iPhone खरीदने के लिए घंटों इंतजार करते हैं। इतना क्रेज होने के बावजूद आपको जानकर हैरानी होगी कि एप्पल कंपनी दुनिया में सबसे ज्यादा  स्मार्टफोन नहीं बेचती है।

सबसे ज्यादा इस कंपनी के बिकते हैं स्मार्टफोन

गार्टनर की फरवरी 2021 की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन सैमसंग बेचती है। इसके बाद दूसरे स्थान पर एप्पल का नंबर आता है। इसके बाद हुवावे , शाओमी और ओप्पो का नंबर आता है। 2020 में स्मार्ट फोन की बिक्री में सैमसंग की हिस्सेदारी 18.8 फीसदी है तो एप्पल की हिस्सेदारी 14.8 फीसदी है। हालांकि एप्पल के लिए अच्छी खबर यह है कि 2019 में वह 12.6 फीसदी की हिस्सेदारी के साथ दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचती थी। उसने 2020 में हुवावे को पछाड़कर दूसरा स्थान हासिल कर लिया है।  हुवावे की पिछड़ने की सबसे बड़ी वजह हुवावे पर गूगल एप्लीकेशन के इस्तेमाल का प्रतिबंध लगना था। जिसकी वजह से उसकी बिक्री 2019 के मुकाबले 2020 में 24.1 फीसदी गिर गई है।

वेंडर  2020 में बिक्री 
सैमसंग 253,025.0
एप्पल 199,847.3
हुवावे  182,610.2
शाओमी 145,802.7
ओप्पो 111,785.2
अन्य 454,799.4

स्रोत- गार्टनर, आंकड़े हजार यूनिट के आधार पर हैं

चीन में 50 फीसदी गिर गई है iphone की बिक्री

दुनिया में सबसे ज्यादा iphone की बिक्री अमेरिका में होती है। लेकिन हकीकत यह भी है कि एप्पल की बिक्री पिछले 5 साल में कम हुई है। बिजनेस ऑफ एप्स डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार पिछले 5 साल में एप्पल की बिक्री गिर गई है। इस दौरान उसे सबसे ज्यादा चीन में नुकसान उठाना पड़ा है। चीन में 2015 में एप्पल ने 7.12 करोड़ iphone की बिक्री की थी वह 2020 में गिरकर केवल 3.49 करोड़ रह गई है। साल 2015 में 22.92 करोड़ iphone की बिक्री की थी। वह 2020 में गिरकर 20.14 करोड़ रह गया है। एप्पल को सबसे बड़ा झटका चीन के मार्केट से लगा है। रिपोर्ट के अनुसार ब्राजील, मैक्सिको, भारत, पाकिस्तान जैसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था में भी ऊंची कीमतों की वजह से एप्पल ज्यादा सेंध नहीं लगा पाया है।

देश (क्षेत्र) 2015 2016 2017 2018 2019 2020
अमेरिका 7.03 6.29 6.93 7.48 6.57 7.33
यूरोप 3.39 3.46 3.68  3.82 3.63 3.73
चीन 7.12 5.83 5.16 4.48 3.14 3.49
जापान 1.5 1.46 1.53  1.49 1.48 1.47
एशिया-प्रशांत क्षेत्र 3.88 4.02 4.41 4.61 3.96 4.12

स्रोत- बिजनेस ऑफ एप्स डॉट कॉम की रिपोर्ट, आंकड़े करोड़ में हैं

एप्पल की 50 फीसदी कमाई iphone से

बिजनेस ऑफ एप्स डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार एप्पल ने ने 2020 में 274 अरब डॉलर की कमाई की है। इसमें आधी कमाई iPhone से हुई है। इसके बाद एप्पल 19 फीसदी कमाई सर्विस डिविजन से करता है। एप्पल ने 2020 में  7.1 करोड़ iPads और 2 करोड़  Mac और MacBook की बिक्री की है। एप्पल की होम और वियरेबल्स डिवीजन से 2020 में 25% कमाई बढ़ी है। इसके एप्पल 11 करोड़  से अधिक AirPods और 4.3 एप्पल घड़ियों की बिक्री की है। इसी तरह के Apple Music के 7.2 करोड़ और Apple TV+ के 4 करोड़  से अधिक यूजर्स हैं।

हर देश में एक जैसे नहीं होते हैं मॉडल

भले ही एप्पल पूरी दुनिया के लिए एक साथ अपने प्रोडक्ट लांच करती है। लेकिन उनके प्रोडक्ट एक दम एक जैसे नहीं होते हैं। एप्पल इसके तहत यूएस मॉडल, कनाडा मॉडल, ग्लोबल मॉडल, चीन मॉडल, रुस मॉडल के तहत अपने प्रोडक्ट लांच करती है। इस बार रुस मॉडल पहली बार जोड़ा गया है। मॉडल में उस देश की खास जरुरतों को देखते हुए थोड़े बदलाव होते हैं।


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर