चीन नहीं अब जॉर्डन करेगा ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर की मेजबानी, ये है वजह

Olympic boxing qualifiers shifted to Jordan: चीन में मुक्केबाजी ओलंपिक क्वालीफायर को रद्द किए जाने के बाद अब इसका आयोजन जॉर्डन में होगा।

boxing
सांकेतिक फोटो  |  तस्वीर साभार: Getty Images

नई दिल्ली: ओलंपिक 2020 मुक्केबाजी क्वालीफायर के आयोजन स्थल में बदलाव हो गया है। अब इसकी मेजबानी जॉर्डन करेगा। इसका आयोजन पहले चीन के वुहान में होना था, लेकिन कोरोना वायरस के कारण आयोजन स्थल और तारीखों में बदलाव कर दिया गया। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के मुक्केबाजी कार्यबल (बीटीएफ) ने घोषणा की कि टोक्यो ओलंपिक के लिए एशिया/ओसनिया क्वालीफाइंग टूर्नामेंट का आयोजन अब तीन से 11 मार्च तक ओमान के स्पोर्ट सिटी में किया जाएगा। आईओसी के मुताबिक, सभी विकल्पों पर सावधानीपूर्वक विचार करने के बाद जॉर्डन ओलंपिक समिति के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

आईओसी के बयान के अनुसार, 'इस टूर्नामेंट का आयोजन पहले तीन से 14 फरवरी तक चीन के वुहान में होना था लेकिन कोरोना वायरस के फैलने के कारण बीटीएफ और चीन ओलंपिक समिति के संयुक्त फैसले के बाद इसे रद्द कर दिया गया।' इसके अनुसार, 'सभी वैकल्पिक स्थलों की समीक्षा के बाद बीटीएफ ने जॉर्डन ओलंपिक समिति के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी और क्वालीफायर की तैयारियों में जुटे खिलाड़ियों के सर्वश्रेष्ठ हित को देखते हुए टूर्नामेंट की तारीख और स्थान की पुष्टि की।'

एमेच्योर अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संस्था एआईबीए से ओलंपिक क्वालीफायर के आयोजन का अधिकार छीन लिया गया था और अब इसका काम विशेष कार्यबल देख रहा है। वुहान को तीन से नौ फरवरी तक एशिया महिला फुटबाल क्वालीफायर की मेजबानी भी करनी थी, लेकिन अब इसका आयोजन नानजिंग के पूर्वी शहर में इन्हीं तारीख में किया जाएगा। बता दें कि भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने गुरुवार को आईओसी की टास्क फोर्स के चेयरमैन मोरीनारी वाटान्बे से कहा था कि वह भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) को एशिया-ओसेनिया ओलम्पिक क्वालीफायर टूर्नामेंट की मेजबानी देने पर विचार करें लेकिन भारत को इस टूर्नामेंट की मेजबानी नहीं मिली।

गौरतलब है कि चीन में इन दिनों कोरोना वायरस का कहर बरपा है। इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है। इसका सबसे पहला मामला वुहान से सामने आया था, लेकिन अब यह चीन के कई अन्‍य प्रांतों में भी फैलता जा रहा है। चीन में इस वायरस के कारण अब तक 41 लोगों की जान चली गई है जबकि लगभग 1,300 लोग इसकी चपेट में हैं। चीन का यह वायरस कई अन्‍य देशों में भी फैलता जा रहा है। दक्षिण कोरिया, अमेरिका, थाईलैंड में भी इस वायरस से लोगों के पीड़‍ित होने का मामला सामने आ चुका है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर