मुक्केबाज शिव थापा ने रचा इतिहास, बने प्रेसीडेंट कप में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय

स्पोर्ट्स
Updated Jul 20, 2019 | 23:39 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

भारत के 25 वर्षीय युवा मुक्केबाज शिव थापा ने शनिवार को इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करा लिया। वो प्रेसिडेंट्स कप में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बने हैं।

Shiva Thapa
शिव थापा  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • प्रेसिडेंट्स कप बॉक्सिंग टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बने शिव थापा
  • फाइनल में उन्हें स्थानीय मुक्केबाज के खिलाफ वाकओवर मिला
  • हिला मुक्केबाज परवीन ने 60 किग्रा भार वर्ग में रजत पदक अपने नाम किया

नई दिल्ली: पिछले कई सालों से भारतीय मुक्केबाजी का भविष्य माने जा रहे शिव थापा ने शनिवार को इतिहास रच दिया। चार बार के एशियाई चैंपियन 25 वर्षीय शिव थापा शनिवार को प्रेसीडेंट कप मुक्केबाजी टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बने। उनसे पहले ये कारनामा कोई भारतीय मुक्केबाज नहीं कर सका था। शनिवार को कजाखस्तान की राजधानी अस्ताना में टूर्नामेंट के फाइनल में उन्हें वाकओवर मिला और इसी के साथ ही उन्होंने स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया। थापा के अलावा भारतीय महिला मुक्केबाज परवीन ने 60 किग्रा भार वर्ग में रजत पदक अपने नाम किया। फाइनल मुकाबलें मे उन्हें स्थानीय मुक्केबाज रिम्मा वेलोसेंको ने मात दी। 

पहली बार 63 किग्रा भार वर्ग में किसी अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा में भाग ले रहे थापा की फाइनल में कजाखस्तान के ही जाकिर सफिफल्लिन से भिड़ंत होनी थी लेकिन चोट के कारण वो मुकाबले के लिए रिंग में नहीं उतरे। इसके बाद आयोजकों ने शिव का विजेता घोषित कर दिया। इसी मुक्केबाज के खिलाफ इसी साल एशियन चैंपियनशिफ के सेमीफाइनल में थापा को हार का सामना करना पड़ा था। 

स्वर्ण पदक अपने नाम करने के बाद थापा ने ट्वीट कर कहा, कजाखस्तान में आयोजित प्रेसिडेंट कप में भारत के लिए 63 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर मैं बेहद खुश हूं और प्रेरित महसूस कर रहा हूं।

उन्होंने अपने भार वर्ग में बदलाव के बाद , 'नए भार वर्ग में खुद को ढालना आसान रहा, भार वर्ग में बदलाव करते हुए मैंने बहुत अधिक कठिनाई का सामना नहीं किया। जाहिर है कि 64 किग्रा भार वर्ग के मुक्केबाजों के ताकत को देखते हुए उनका सामना करना मुश्किल था लेकिन कुछ भी असंभव नहीं है।'
स्पोर्ट्स अथारिटी ऑफ इंडिया ने शिवा को उनकी स्वर्ण पदक जीत पर ट्वीट करके बधाई दी है। 

इससे पहले थापा ने सेमीफाइनल में किरगिस्तान के अरगॉन कादिरीबेकुलू को 4-1 से मात देकर फाइनल में एंट्री की थी। वहीं शनिवार को ही स्वीटी बोरा को 81 किग्रा भार वर्ग और दुर्योधन सिंह नेगी ने 69 किग्रा भारवर्ग में कांस्य पदक हासिल किया। दोनों को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। 

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर