USA vs CHINA: चीन ने हद पार की, अमेरिका को चिढ़ाने के लिए अपने खेल प्रेमियों को भी नहीं बख्शा

अमेरिका और चीन के बीच पिछले कुछ समय से चल रही तनातनी का असर अब दुनिया पर भी दिखने लगा है। चीन के लोगों की बात करें तो वहां की तानाशाही का एक फैसला उनके खेल प्रेमियों को भी निराश कर गया।

USA vs CHINA
USA vs CHINA  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

मुख्य बातें

  • चीन और अमेरिका में तनातनी का अब खेलों पर भी प्रभाव
  • चीन ने सबसे लोकप्रिय टूर्नामेंट के प्रसारण पर लगा रखी है रोक
  • फैंस हुए निराश, सार्वजनिक प्रसारणकर्ता ने फिर दिया भड़काऊ बयान

नई दिल्लीः कोरोना वायरस को जन्म देने वाले चीन इन दिनों दुनिया के बहुत से देशों की आलोचनाओं के बीच घिरा हुआ है। इनमें से सबसे ज्यादा आलोचनाएं अमेरिका (USA) से उठी हैं जिसके राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ना जाने कितनी बार खुलकर चीन को इस महामारी की वजह करार दिया है। वैसे इन दो सुपरपावर देशों के बीच तनाव की स्थिति कोई नई नहीं है। कोरोना काल से पहले भी व्यापार को लेकर दोनों के बीच तनातनी चल रही थी जो अब और भयानक होती जा रही है। बातों तक सही था लेकिन अब चीन कुछ ऐसे फैसले लेने लगा है जो काफी हैरान करने वाले हैं। उसका ताजा फैसला उसी के देश के करोड़ों लोगों को पसंद नहीं आ रहा।

सबसे चर्चित आयोजन के प्रसारण पर बैन

दरअसल दुनिया में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले खेल आयोजनों में से एक अमेरिकी बास्केटबॉल टूर्नामेंट NBA के प्रसारण पर चीन ने प्रतिबंध लगा दिया था। इसकी वजह था एनबीए टीम ह्यूसटन रॉकेट्स के महाप्रबंधक डेरिल मूरे का एक बयान। डेरिल मूर ने पिछले साल हांगकांग में हुए लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनों का समर्थन करते हुए ट्वीट किया था। उसके बाद से चीन ने सिर्फ एक टीम के मैच नहीं बल्कि पूरे एनबीए के प्रसारण को अपने देश में बैन कर दिया जो अब तक जारी है। कोरोना महमारी के कारण इस समय लीग नहीं हो रही है लेकिन चीन ने ये प्रतिबंध अक्टूबर 2019 में ही लगा दिया था। 

फिर दिया भड़काऊ बयान

उम्मीद की जा रही थी कि समय बीतने के साथ चीन इस फैसले को वापस ले लेगा लेकिन सोमवार को अपने ताजा बयान में चीन के सार्वजनिक प्रसारणकर्ता सीसीटीवी ने कहा कि एनबीए बास्केटबॉल लीग के मैचों के प्रसारण पर लगी रोक में छूट देने का उसका कोई इरादा नहीं है। सीसीटीवी ने ट्विटर की तरह की सोशल नेटवर्किंग साइट वीबो पर सोमवार को लिखा, ‘अटकलों के संदर्भ में (मैचों के प्रसारण को लेकर), हम दोहराते हैं कि अब तक एनबीए के साथ हमने कोई संपर्क या बातचीत नहीं की।’

फुटेज भी डाली

प्रसारणकर्ता सीसीटीवी ने इसके साथ ही एक फुटेज भी डाली जिसमें प्रस्तोता कार्यक्रम के दौरान यही बात बोल रहा है। प्रसारणकर्ता ने कहा, ‘संप्रभुता से जुड़े मुद्दों पर हमारा रवैया कड़ा, दृढ़ और निरंतर है और इसमें बदलाव की कोई गुंजाइश नहीं है। एनबीए को इस स्थिति को समझना चाहिए।’

फैंस हैं निराश

चीन में बास्केटबॉल के करोड़ों फैंस है और एनबीए वहां सबसे लोकप्रिय टूर्नामेंट में से एक है। चीन में एनबीए के प्रसारण को करोड़ों लोग देखते हैं। ऐसे में वहां पर फैंस काफी निराश हैं। बताया जाता है कि जब मुकाबले लाइव नहीं चल रहे होते, तब एनबीए मैचों के रिपीट टेलीकास्ट को भी वहां पर तमाम दर्शक देखते हैं लेकिन अब महामारी के दौरान में लाइव तो दूर उन्हें रिपीट टेलीकास्ट भी देखने को नहीं मिल रहा है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर