खत्म हुआ पाकिस्तान का इंतजार, 10 साल बाद एथलीट ने कटाया ओलंपिक का टिकट

Pakistan Javelin thrower Arshad Nadeem: पाकिस्तान के भालाफेंक एथलीट अरशद नदीम ने दक्षिण एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के साथ टोक्यो ओलंपिक का टिकट भी हासिल कर लिया है।

Arshad nadeem Neeraj Chopra
Arshad nadeem Neeraj Chopra  |  तस्वीर साभार: Twitter

काठमांडू: एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता भालाफेंक एथलीट अरशद नदीम ने दक्षिण एशियाई खेलों में शनिवार को घमाकेदार प्रदर्शन करते हुए टोक्यो ओलंपिक का टिकट हासिल कर लिया। वो एक दशक में ओलंपिक में सीधे प्रवेश पाने वाले पहले पाकिस्तानी एथलीट हैं। उन्होंने शनिवार को पुरुषों की भालाफेंक स्पर्धा में 86.29 मीटर दूरी तक भाला फेंककर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। यह उनका सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत प्रदर्शन के साथ-साथ पाकिस्तान का नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी है। 

अपने इस प्रदर्शन के साथ 22 वर्षीय अरशद ने दक्षिण एशियाई खेलों का नया रिकॉर्ड भी स्थापित कर दिया। इससे पहले ये रिकॉर्ड भारत के नीरज चोपड़ा के नाम दर्ज था। चोपड़ा ने साल 2016 में 82.23 मीटर दूरी तक भाला फेंककर रिकॉर्ड कायम किया था। 2018 में आयोजित जकार्ता-पालंमबांग एशियाई खेलों में उन्होंने कांस्य पदक जीता था। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक नीरज चोपड़ा ने जीता था। मेडल सेरेमनी के बाद दोनों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थीं। 

ओलंपिक के लिए किसी भी एथलीट को सीधे क्वालीफाइ करने के लिए 85 मीटर के आंकड़े को पार करना था और अरशद ने ये कर दिखाया। वो ओलंपिक टिकट हासिल करके बेहद खुश हैं। उन्होंने स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहा, मैं बेहद खुश हूं आखिरकार मेरी मेहनत रंग ले आई। मैंने पाकिस्तान का नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड कायम किया है। मैं आशा करता हूं कि टोक्यो ओलंपिक में भी मेडल जीत सकूं। मैं पाकिस्तान के एथलेटिक्स फेडरेशन का धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने मेरी ट्रेनिंग का इंतजाम किया। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर